कोरबा। Korba News : इस बार दसवीं व 12वीं की कक्षाओं में प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए एक्सटर्नल्स यानी बाह्य परीक्षकों की आवभगत नहीं करनी पड़ेगी। बोर्ड परीक्षा 2021 के लिए छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने प्रैक्टिकल्स के लिए इन बाह्य परीक्षकों की अनिवार्यता को इस बार के लिए शिथिल कर दिया है। इनके स्थान पर परीक्षार्थियों से संबंधित स्कूलों में पदस्थ उसी विषय के व्याख्याता ही परीक्षक की भूमिका निभाएंगे और प्रायोगिक परीक्षा पूर्ण कराएंगे। पहले ही इस सत्र के लिए बोर्ड ने दोनों कक्षाओं के लिए मुख्य विषयों के पाठ्यक्रम में 30 से 40 प्रतिशत की कटौती कर दी थी। अब प्रायोगिक परीक्षा को लेकर जारी नए दिशा-निर्देश के अनुरूप व्यवस्था सुनिश्चित करने कहा गया है।

कोरोना के संकटकाल में स्कूल और कालेजों के पट अब भी विद्यार्थियों के लिए बंद हैं। स्कूलों के शुरू करने की अनिश्चित संभावनाओं को देखते हुए हाई व हायर हेकेंडरी परीक्षा वर्ष 2021 के मुख्य विषयों के पाठ्यक्रम में 30 से 40 प्रतिशत कटौती की गई। अब नियमित विद्यार्थियों की प्रायोगिक परीक्षा व प्रोजेक्ट कार्य के लिए भी नियमों में शिथिलता लाई गई है।

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से घोषित परीक्षा कार्यक्रम में हाई स्कूल व हायर हेकेंडरी की मुख्य परीक्षा के पहले होने वाली प्रायोगिक परीक्षा में बाह्य परीक्षक की अनिवार्यता खत्म कर दी है। बोर्ड से जारी निर्देश के अनुसार फरवरी के दूसरे सप्ताह से प्रायोगिक परीक्षाएं आयोजित की जानी है। निर्धारित पाठ्यक्रम के अनुसार नियमित छात्र के रूप में प्रायोगिक परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र छात्राओं की प्रायोगिक परीक्षाएं संस्था स्तर पर ही ली जाएंगी।

बोर्ड ने सभी संबंधित संस्थाओं को प्रायोगिक परीक्षाएं व प्रायोजना कार्य दस फरवरी से दस मार्च के बीच आयोजित कर प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। कार्यक्रम के अनुसार कक्षा 12वीं में पर्यावरण अध्ययन के पाठ्यक्रम के अनुसार अध्यापन कार्य व दो प्रोजेक्ट कराया जाएगा। साथ ही विद्यालय स्तर पर 50 अंकों की मंडल की ओर से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार परीक्षा आयोजित कर छात्रों के प्राप्त अंक 20 मार्च के पूर्व मंडल के पोर्टल पर आनलाइन प्रविष्टि करनी होगी।

सुविधा के अनुसार प्रतिदिन तीन बैच, कोविड प्रोटोकाल का पालन

प्रायोगिक के प्रोजेक्ट कार्य, लिखित और वाइवा की प्रक्रिया संबंधित स्कूल में अध्यापन कार्य कर रहे ही विषय के शिक्षक पूर्ण कराएंगे। आंतरिक परीक्षक सुविधानुसार एक दिन में तीन बैच बनाकर, प्रत्येक बैच में उतने ही परीक्षार्थियों को बुलाकर परीक्षा ले सकेंगे। निर्धारित अवधि के बीच परीक्षार्थियों को आंतरिक परीक्षक की ओर से दिए गए अंकों की जानकारी मंडल को उपलब्ध कराएंगे। संबंधित संस्थाओं में विषय विशेष के व्याख्याता ही परीक्षक होंगे। आंतरिक परीक्षक सुविधा अनुसार प्रतिदिन तीन बैच में समान संख्या में छात्रों को बुलाकर प्रायोगिक परीक्षा ले सकेंगे। फिजिकल डिस्टेंसिंग के लिए जरूरत पड़ने पर एक विषय की प्रायोगिक परीक्षा एक दिन से अधिक दिनों में भी आयोजित कर सकते हैं।

आंतरिक मूल्यांकन, पहले की उत्तरपुस्तिकाओं का प्रयोग

बोर्ड से जारी कार्यक्रम के अनुसार प्रायोगिक परीक्षा के लिए शैक्षणिक संस्थाओं को संस्था में अध्यापन कार्य कर रहे शिक्षकों को संबंधित विषय में आंतरिक परीक्षक नियुक्त करेंगे। तय समय में नियुक्त आंतरिक परीक्षा से ही प्रायोगिक परीक्षा करानी होगी। प्रायोगिक परीक्षा व प्रायोजना कार्य का आंतरिक मूल्यांकन स्कूल स्तर पर ही करना होगा। प्रायोगिक परीक्षा के लिए बीते वर्षों की बची हुई उत्तर पुस्तिकाओं का उपयोग करेंगे और कमी होने पर स्थानीय स्तर पर ही व्यवस्था करनी होेगी। परीक्षा उपरांत निर्धारित अवधि में अंकों की आनलाइन प्रविष्टि 20 मार्च तक मंडल के पोर्टल पर करनी होगी। इसकी दो प्रतियां निकालकर संबंधित विषयों के आंतरिक्षक परीक्षकों से मिलान कराकर हस्ताक्षरित कराएंगे उसके बाद पोर्टल लाक करना पड़ेगा।

संशोधन व सुधार की स्थिति से बचने विशेष ध्यान रखने के निर्देश

शिक्षण संस्थाओं को शिक्षा मंडल से जारी कार्यक्रम में यह भी कहा है कि बीते वर्ष प्रायोगिक परीक्षा के अंकों में संशोधन व सुधार के लिए कई संस्थाओं से आवेदन मिले थे। इस वर्ष आनलाइन पोर्टल में अंकों की प्रविष्टि करने के बाद अंकों की दोबारा जांच कर लें। अंकों का मिलान दो से तीन बार करें और उसके बाद ही पोर्टल लाक करें, ताकि संशोधन व सुधार की गुंजाईश ही न रहे। इस बार परीक्षाफल की घोषणा के बाद अंकों में संशोधन व सुधार नहीं करने का निर्णय लिया गया है। अध्यापन कार्य के अनुसार दो प्रोजेक्ट कराना होगा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags