कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बीते वर्ष तक हमने यह देखा कि जब कभी नए शिक्षा सत्र की पढ़ाई शुरू करने का समय पास आता, तो शिक्षण संस्थाएं ही अपने विद्यार्थियों व उनके पालकों को सूचित करते कि अमूक तिथि से उन्हें अपने बच्चों को भेजना है। समय पर कक्षाओं में उपस्थिति सुनिश्चित करें। पर इस बार कोरोनाकाल की परिस्थितियों ने इस परंपरा को भी बदलने पर विवश कर दिया है। परिणाम स्वरूप इस बार प्राध्यापक व प्राचार्य विद्यार्थियों और उनके पालकों को पूछ रहे हैं कि आप ही बताइए, कालेज कब से शुरू करनी है। इस तरह लिखित में उनकी सहमति, मंशा व इच्छा जानने कालेज उनसे फीडबैक फार्म भराया गया है।

उच्च शिक्षण संस्थाओं में कक्षाओं का नियमित संचालन शुरू करने की तैयारी केंद्र व राज्य शासन ने शुरू कर दी है। उच्च शिक्षा विभाग से मिले दिशा-निर्देश के अनुसार विश्वविद्यालय ने भी प्रारंभिक चरण में प्राचार्यों, शैक्षणिक स्टाफ व छात्रों से उनकी राय जानने एक फार्म उपलब्ध कराए हैं। इस फीडबैक फार्म के आधार पर यह तय होगा, कि कब से कालेजों में शिक्षण कार्य शुरू किया जा सकता है। इस तरह फीडबैक फार्म के माध्यम से अपने छात्रों व उनके अभिभावकों से मिले मत को विभिन्ना्‌ कालेज जिले की अग्रणी संस्था शासकीय इंजीनियर विश्वेसरैया स्नातकोत्तर महाविद्यालय को उपलब्ध कराया जा रहा है। इसे विश्वविद्यालय को भेजा जा रहा है। केंद्र शासन, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग व उच्च शिक्षा विभाग ने कोविड-19 के कारण लाकडाउन की अवधि में विश्वविद्यालय व कालेजों के लिए कक्षाओं का संचालन, परीक्षा आयोजन व शिक्षा सत्र 2020-21 में प्रवेश के संबंध में विभिन्ना्‌ दिशा-निर्देश जारी किए हैं। अनलाक के पांचवे चरण से संबंधित सर्कुलर आगामी माह से शैक्षणिक गतिविधियां प्रारंभ करने का उल्लेख करते हुए यह कवायद की जा रही है।

अकादमिक स्टाफ ने भी बताई अपनी राय

कालेज कब से शुरू करनी हैं या कक्षाएं लगाकर नियमित पढ़ाई के लिए छात्र-छात्राओं व पालकों के अलावा कालेज के अकादमिक व अन्य स्टाफ की मंशा भी पूछी गई। अनलाक की स्थिति में जिले के कालेजों में कब से पढ़ाई करना उचित होगा, इसके लिए अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय बिलासपुर की ओर से संबद्ध कालेजों के प्राचार्य, अकादमिक अधिकारी-कर्मचारी व छात्र-छात्राओं को भी फीडबैक फार्म भराया है। इन सभी से मिले फीडबैक के आधार पर कक्षाएं लगाकर शिक्षण व्यवस्था शुरू करने की तैयारी की जा रही है। प्राचार्यों, शैक्षणिक स्टाफ व छात्रों से संलग्न प्रपत्र में वांछित फीडबैक लीड कालेज के जरिए विश्वविद्यालय को भेज दी गई है।

एक नवंबर से वेबेक्स पर आनलाइन कक्षा

उच्च शिक्षा संचालनालय से जारी दिशा-निर्देश के अनुरूप प्रक्रिया पूर्ण करा ली गई है। संस्थाओं ने गूगल फार्म बनाकर लिंक सभी को भेज दिया था, जिसमें दिए गए प्रपत्र को भरकर अपनी राय उपलब्ध करा दी गई है। अटल विश्वविद्यालय से संबद्ध जिले के 18 कालेजों ने अपने अपने स्टाफ, विद्यार्थी व पालकों का फीडबैक फार्म प्रस्तुत कर दिया है। इस फीडबैक फार्म के परिणाम के अनुरूप अधिकतर छात्र-छात्राओं व पालकों ने एक नवंबर से कक्षाएं शुरू करने पर सहमति दे दी है, जिसे ध्यान में रखते हुए अगले माह की पहली तारीख से आनलाइन कक्षाएं शुरू कर दी जाएंगी। इसके लिए वेबेक्स का प्रयोग किया जाएगा, जिसकी लिंक से छात्र व प्राध्यापन जुड़ सकेंगे।

प्रपत्र में मांगी गई थी यह जानकारियां

इस फीडबैक फार्म में छात्रों के नाम, कक्षा, कालेज का नाम, मोबाइल नंबर, वर्तमान या स्थाई पता, ई-मेल एड्रेस, प्रस्तावित तिथि, पालक की सहमति व अन्य सुझाव मांगा गया था। इसी तरह प्राचार्य व शैक्षणिक स्टाफ से भी नाम, कालेज का नाम, मोबाइल नंबर, पता, ई-मेल आइडी, नियमित रूप से कक्षाएं शुरू करने के संबंध में उनके विचार, कालेज स्तर पर की जाने वाली तैयारियों के संबंध में सुझाव लिए गए हैं। चार तिथियों में किसी एक का चुनाव हां या नहीं में करने कहा गया था, जिसमें कक्षाएं शुरू करने एक नवंबर, 20 नवंबर, एक दिसंबर व 15 दिसंबर का विकल्प दिया गया था। जिसमें संबंधित को केवल एक तिथि का चयन करना है। अधिकतर ने एक नवंबर को चुना।

शासन के निर्देश के अनुसार फीडफार्म भरकर अग्रण महाविद्यालय के माध्यम से विश्वविद्यालय को भेज दिया गया है। अधिकतर छात्र-छात्राओं, पालकों व स्टाफ ने एक नवंबर का चयन किया है, जिसके आधार पर एक नवंबर से आनलाइन कक्षाएं शुरू करने की तैयारी की जा रही है। आफलाइन कक्षाओं के संबंध में शासन के दिशा-निर्देश की प्रतीक्षा है, जिसके अनुसार प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

- डा. एसके अग्रवाल, प्राचार्य, शासकीय कालेज, कटघोरा

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020