कोरबा । जिले में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए जिला प्रशासन ने सभी प्रकार की दुकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों के खुलने-बंद होने का समय एक बार फिर बदल दिया है। सभी नगरीय निकायों में सभी प्रकार की स्थाई एवं अस्थाई दुकानें अब सुबह छह बजे खुलकर दोपहर तीन बजे बंद होंगी।

संक्रमण का रफ्तार कम होने का नाम नहीं ले रहा। गुरूवार को पताढी निवासी एक व्यक्ति की मौत बिलासपुर में इलाज के दौरान हो गई। एक ही दिन में 343 संक्रमित मिलें हैं, जो कोरोना के दूसरी लहर के बाद के सर्वाधिक आंकडे हैं।

जारी किए गए आदेश में दुकानों में खरीददारी के दौरान भीड़ को नियंत्रित करने एवं कोविड प्रोटोकाल का पालन करने और ग्राहकों से पालन कराने की जिम्मेदारी दुकानदारों को दी गई है। कोविड प्रोटोकाल के उल्लंघन, दुकानों में भीड़ इकट्ठी होने, शारीरिक दूरी का पालन नहीं करने, मास्क के बिना खरीदी-बिक्री करने पर संबंधित व्यक्तियों के साथ-साथ दुकानदारों पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

शहर सहित जिले के विभिन्ना्‌ मार्गों में आवागमन करने वालों पर निगरानी रखी जा रही है। रेस्टोरेंट, होटल और ढाबों में सुबह आठ बजे से दोपहर तीन बजे तक ही बैठकर भोजन और नाश्ते की अनुमति होगी। पार्सल लेने और टेक अवे तथा होम डिलीवरी की सुविधा रात्रि नौ बजे तक रहेगी। चैपाटी और अस्थाई ठेले भी दोपहर तीन बजे बंद हो जाएंगे। शराब दुकानों पर भी यह नियम लागू रहेगा।

कलेक्टर किरण कौशल ने जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए इस संबंध में जरूरी आदेश आज जारी कर दिया है। यह आदेश जिले के सभी पांचो नगरीय निकाय क्षेत्रों में लागू होगा। कोरोना टीकाकरण केंद्रों में शुक्रवार को भी जारी रहेगा।

नहीं लगेगा पूर्ण लाकडाउन

जिले में कोरोना संक्रमण और वैक्सिनेशन पर प्रशासनिक निगरानी जारी है। कलेक्टर कौशल ने बताया कि पिछले एक सप्ताह में कोरोना संक्रमण का औसत 225 से 250 प्रतिदिन के बीच है जो नियंत्रण में है। परिस्थितियां अभी प्रशासन के नियंत्रण में है, इस वजह से पूर्ण लाकडाउन का निर्णय नहीं लेते हुए बाजार खुलने के समय में तीन घंटे की कटौती की गई है।

प्रतिदिन जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक में स्थितियों की समीक्षा की जा रही है। जिले में अभी कोरोना संक्रमण की स्थिति प्रशासन के नियंत्रण में है। कोरोना से लड़ाई के लिए संसाधनों को तेजी से विकसित और तैयार करने पर काम किया जा रहा है। जिले में कोरोना टीकाकरण को तेज करने के साथ-साथ संक्रमितों के इलाज के लिए सुविधाएं बढ़ाने पर प्रशासन पूरी गंभीरता से काम कर रहा है।

यहां लागू नहीं होगा नियम

जारी आदेशानुसार पेट्रोल पंप एवं मेडिकल स्टोर्स इस नियंत्रण से मुक्त रहेंगे तथा अपने निर्धारित समय पर खुलेंगे। सभी व्यापारियों तथा उनके कर्मचारियों सहित ग्राहकों को भी खरीददारी के दौरान मास्क पहनना अनिवार्य होगा। समस्त व्यापारिक गतिविधियों में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करना भी अनिवार्य होगा।

सभी दुकानों के सामने दुकानदारों को स्वयं फ्लैक्स छपवाकर दुकानों के खुलने एवं बंद होने के समय को प्रदर्शित करना होगा। सभी व्यापारियों को अपने दुकान में बेचने के लिए मास्क रखना अनिवार्य होगा ताकि बिना मास्क पहने खरीददारी करने आए ग्राहकों को मास्क का विक्रय किया जा सके उसके उपरांत ही वस्तुओं की खरीददारी की जाए।

10 वेंटीलेटर में चार खाली

जिला कोविड अस्पताल के 10 वेंटीलेटर में अभी कोरोना के छह गंभीर मरीज दाखिल हैं जबकि चार बेड अब भी खाली है। अस्पताल के नोडल अधिकारी डा एलएस ध्रुव ने बताया कि वर्तमान में 127 मरीज दाखिल हैं, इनमें 21 मरीजों को आक्सीजन में रखा गया है। अस्पताल लगातार संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है।

सुविधाओं पूरी निगरानी रखी जा रही है। अधिकारी ने बताया कि आवश्यकता पड़ने पर वेंटीलेटर की सुविधा भी बढ़ाई जाएगी। उल्लेखनीय है कि अस्पताल में 142 बेड की सुविधा है। जिस रफ्तार मरीजों की संख्या बढ़ रही है उसके अपेक्षा नर्स और सहायक चिकित्सा स्टाफ की व्यवस्था नहीं किए जाने से मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

सैनिटाइजर की सुविधा अनिवार्य

प्रत्येक दुकान में स्वयं तथा आगंतुकों के उपयोग के लिए सेनेटाइजर रखना अनिवार्य होगा। किसी बाजार या किसी क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन घोषित हो जाता है तो उस क्षेत्र के समस्त व्यवसाय और दुकानें बंद कर दिए जाएंगे। उस क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन के समस्त नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। यदि किसी व्यापारी के द्वारा उपरोक्त शर्तों में से किसी शर्त का उल्लंघन किया जाता है तो उसकी दुकान को 15 दिन के लिए सील कर बंद करने और नियमानुसार निर्धारित जुर्माना या महामारी अधिनियम के तहत वैधानिक कार्रवाई भी की जाएगी।

नियम पालन कराने दी गई जिम्मेदारी

कलेक्टर कौशल ने सभी एसडीएम, सिटी मजिस्ट्रेट, सी.एस.पी, एस.डी.ओपी, तहसीलदारों एवं थानेदारों को इस आदेश के क्रियान्वयन हेतु अपने प्रभार क्षेत्र में सतत भ्रमण करने के के जिए कहा है। उन्होंने सभी इंसीडेंट कमांडर, जोन कमिश्नर एवं थानेदारों को अपने प्रभार क्षेत्र के सभी कंटेनमेंट जोन में प्रभावी नियंत्रण सुनिश्चित करने कह जवाबदारी दी है। नियम का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति या प्रतिष्ठान के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता 1860 की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 एवं महामारी नियंत्रण अधिनियम 1897 की धारा 3 के तहत दंडनीय एवं वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

कब कितने संक्रमित

दिन - संक्रमित

एक अप्रैल -98

दो अप्रैल - 112

तीन अप्रैल - 221

चार अप्रैल - 189

पांच अप्रैल- 285

छह अप्रैल - 294

सात अप्रैल -267

आठ अप्रैल - 343

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags