कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोई अपना बेवक्त चला जाए, तो वह दुख कैसा होता है, कोरोना के संकट काल में अनेक लोगों ने यह महसूस किया। जिस घर ने अपना कमाउ पूत खोया, जिस आंगन का चिराग हमेशा के लिए बुझ गया, ऐसी त्रासदी से जूझ रहे परिवारों को यह बताएं, कि वे अकेले नहीं, आप और हम उनके साथ हैं। सर्व धर्म प्रार्थना सभा के माध्यम से नईदुनिया ने एक अवसर दिया है, कि अपने हृदय की संवेदना को भीतर रखने की बजाय आप उन पीड़ितों तक पहुंचाएं, ताकि इस असीम कष्ट को सहन करने उनके मन में ढांढस का साहस भर सकें। सोमवार को सुबह 11 बजे आप जहां भी रहें, दिवंगतों को श्रद्धांजलि दें और संक्रमितों के जल्द स्वास्थ्य लाभ के लिए दो मिनट की मौन प्रार्थना करें।

जिला और प्रदेशवासियों से यह विनम्र आग्रह छत्तीसगढ़ के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने की है। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि नईदुनिया-जागरण परिवार की ओर से सोमवार को आयोजित किए जा रहे सर्व धर्म प्रार्थना सभा में हर वर्ग, जनप्रतिनिधि, अधिकारी-कर्मचारी, शिक्षक और विद्यार्थी से लेकर आमजन शामिल हों। पिछले सोलह महीने के कोरोनाकाल ने न जाने कितने परिवारों का जीवन बदल दिया। कई लोगों के जीवन की डोर असमय टूट गई, तो उनके जाने के बाद परिजनों पर दुख ऐसा पहाड़ टूटा, जिसका दंश वे आज भी बर्दाश्त करने विवश होंगे। कई परिवारों ने अपने परिवार के मुखिया को खो दिया, तो कई लोगों ने अपने माता, पिता, भाई, बहन, मित्र, पुत्र-पुत्रियों को विवश आंखों से उन्हें छोड़कर जाते हुए देखा। मंत्री अग्रवाल ने कहा कि मैं आह्वान करता हूं- नईदुनिया के तत्वावधान में आयोजित सर्व धर्म प्रार्थना सभा में आप सभी शामिल होकर दिवंगतों को श्रद्धा सुमन अर्पित करें और उनके जाने से आहत हुए पीड़ित परिवारों को सांत्वना प्रदान करने अपनी सहभागिता सुनिश्चित करें। मंत्री अग्रवाल ने कहा कि हम सब समाज में रहते हैं, जिसने हमेशा हमें एक-दूसरे के सुख के साथ दुख की घड़ी में भी भागीदार बनना सिखाया है। इस भीषण आपदा में वही सीख हमारे काम आई है, जो कोरोनाकाल में जरूरतमंदों के लिए उठे मदद के असंख्य हाथों के रूप में देखने को मिला। खतरा अब भी टला नहीं है, इसलिए कोविड-19 की रोकथाम और नियंत्रण के लिए निर्धारित नियमों का पालन करें। शारीरिक दूरी रखते हुए और मुंह मास्क लगाए हुए 14 जून को सुबह 11 बजे आप जहां भी रहें, वहीं से सर्व धर्म प्रार्थना सभा में खुद को शामिल कर मानव धर्म निभाएं।

दो मिनट ठहर जाएं और प्रदर्शित करें संवेदनाएं

कलेक्टर रानू साहू ने कहा कि परिस्थितियों का बदलते रहना ही प्रकृति है पर जो अडिग रहकर सामना करे, वह मनुष्य है। कोरोना काल की भीषण परिस्थितियों में हमारे प्रथम पंक्ति के योद्धाओं ने नागरिकों की सुरक्षा के लिए समर्पित होकर कार्य किया। अनेक लोगों ने संक्रमण से लड़ते हुए जीत भी हासिल की और अपनी जिंदगी में वापसी की। पर कई ऐसे परिवार भी हैं, जिनके अपने महामारी से संघर्ष करते हुए जिंदगी हार गए। विपदा में अपने प्रियजनों को खो देने वाले परिजनों को हम सब के साथ की जरूरत है। जरूरी नहीं कि हम उनसे मिलकर ही अपनी आत्मीयता प्रदर्शित करें। नईदुनिया की सर्व धर्म प्रार्थना में सहभागी बन हम उन असंख्य लोगों तक अपनी भावना पहुंचा सकते हैं। इसलिए मेरा आग्रह है कि सोमवार को सुबह 11 बजे आप सभी दो मिनट ठहर जाएं। अपनी संवेदना की मौन प्रस्तुति दें और संक्रमण से जूझ रहे लोगों की सेहत के लिए प्रार्थना करें।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags