कोरबा (नईदुनिया न्यूज)। राष्ट्रीय अंधत्व निवारण कार्यक्रम के अंतर्गत मोतियाबिंद की समस्या से जूझ रहे लोगों को राहत देने के लिए स्वास्थ्य विभाग लगातार काम कर रहा है। स्क्रीनिंग से लेकर सभी तरह की जांच और आपरेशन की सुविधा लोगों को दी जा रही हैं। लक्ष्‌य यह तय किया गया है कि कोरबा जिले में मोतियाबिंद को पूरी तरह समाप्त किया जाए। मोतियाबिंद को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ी है। इस समस्या का निदान करने लोग ऑपरेशन कराने पर भरोसा जता रहे हैं। स्वास्थ्य अमला भी लगातार शिविर लगाकर पीड़ितों को मोतियाबिंद से मुक्ति दिलाने की कवायद में जुटा हुआ है। कई कारणों से मोतियाबिंद की बीमारी लोगों में रही है और किसी भी उम्र के लोग इससे प्रभावित हो रहे है। चिकित्सकों के अनुसार राखड़ प्रदूषण समेत इसके लिए कई कारण है। जिले में मोतियाबिंद पीड़ितों को राहत देने के लिए लगातार प्रयास जारी है। करतला ब्लाक में विभाग को सबसे अधिक सहायता मिली है। बताया गया कि सरकार की नीति के अंतर्गत प्रति सप्ताह दो आपरेशन किए जा रहे हैं, जबकि माह में 15 से 17 लोगों को लाभान्वित किया जा रहा है। एक मरीज को अधिकतम तीन दिन स्वास्थ्य विभाग अपनी निगरानी में रखता है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा रही कोशिशों से शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को काफी लाभ मिल रहा है। लोगों ने इसे लेकर अपने अनुभव साझा किए। लोगों को सलाह दी जा रही है कि वह काम के दबाव के बीच अपनी आंखों को पर्याप्त आराम दें, ऐसा करना उनके लिए जरूरी है। मानव शरीर के लिए दूसरे अंगों के समान आंख का भी अपना विशेष महत्व है। चिकित्सक लगातार मोतियाबिंद का आपरेशन कर रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close