कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। महंगाई के विरोध में भारतीय मजदूर संघ ने जिला स्तर पर धरना प्रदर्शन किया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि कोरोना महामारी फैलने के बाद औद्योगिक गतिविधियों में गिरावट हुई। बेरोजगारी बढ़ी, वेतन कटौती की गई। इस बीच आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी होने से आमजन को बुरी तरह प्रभावित हो रहे हैं। महंगाई आम जनता के साथ ही श्रमिकों, कर्मचारियों को विशेष तौर पर प्रभावित कर रही है पिछले 18 माह से महंगाई दर छह फीसद की सीमा पार कर चुकी है। आमसभा उपरांत रैली निकाल सिटी मजिस्ट्रेट को प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

भारतीय मजदूर संघ के केंद्रीय आह्वान पर महंगाई को लेकर प्रदेश के सभी जिलों से धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम आयोजित किया गया। आइटीआई रामपुर चौक में आयोजित धरना में सभी कार्यकर्ताओं ने महंगाई के विरोध में केंद्रीय और राज्य सरकार के खिलाफ नारे बाजी की। कार्यक्रम की अध्यक्षता शरद नायर जिला अध्यक्ष बीएमएस व संचालन जिला मंत्री नवरतन बरेठ ने किया। इस दौरान सभी संगठन के अध्यक्ष महामंत्री व वरिष्ठ पदाधिकारियों कोयला खदान मजदूर स संगठन से टिकेश्वर राठौर, अशोक सूर्यवंशी, बालको से रामलाल चंद्रा, एनटीपीसी से सुरेंद्र राठौर, सीएसईबी से सीएस दुबे, संविदा मजदूर संघ से गोरेलाल शर्मा, बसंत तिवारी, भवन निर्माण संघ से स्नेह लता पटेल, रेलवे मजदूर संघ से जिला उपाध्यक्ष विवेकानंद चंद्रा, जिला प्रभारी सतीश राठौर, राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य एवं पर्यावरण मंच प्रभारी लक्ष्‌मण चंद्रा व बीएमएस प्रदेश उद्योग प्रभारी राधेश्याम जायसवाल ने उपस्थितजनों को संबोधित किया। कार्यक्रम में बाबूलाल चंद्रा, वेद शर्मा, गिरेश्वर राठौर, एपी साहू, केएन पटेल, एमएम दुबे, विनय चंद्र, सुरेश साहू, हेतराम खुटे, नारायण राठौर, रामबाबू गंधर्व, सुरेश चौबे, यशवंत राठौर, सतीश साहू, गजेंद्र कौशिक, छत्रपाल सिंह राठौर, सत्य प्रकाश गांधी गुप्ता, देवानंद बढ़ाई, अनिल पटेल, मुकेश शर्मा, अनिल कुमार दुबे, बसंत तिवारी, समेत बीएमएस के जिला कोरबा में सभी संगठन एसईसीएल, बाल्को, एनटीपीसी,सीएसईबी उत्पादन, कोरबा पश्चिम, कोरबा पूर्व, कोरबा वितरण,भवन निर्माण, रेलवे मजदूर संघ, राज्य कर्मचारी संघ, स्वायत्तशासी कर्मचारी संघ, व संविदा मजदूर संघ के कार्यकर्ता शामिल हुए।

जनविरोधी कार्य करेगी सरकार तो करेंगे विरोध

वक्ताओं ने कहा कि पेट्रोल की बढ़ती कीमत से जनमानस परेशान है, इसलिए पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में लाया जाना चाहिए, केंद्र सरकार हमारी विचारधारा की सरकार है परंतु यह मजदूर व जन विरोधी कार्य करेगी, तो बीएमएस सरकार का विरोध करने में परहेज नहीं करेगा। सरकार को संघ चेताने का कार्य करता रहेगा।

महंगाई पर नियंत्रण करने कड़ी कार्रवाई जरूरी

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बीएमएस के प्रदेश उद्योग प्रभारी राधेश्याम जायसवाल ने सभी कामगारों को एकजुट होकर इस विषम परिस्थिति में सरकार से लड़ने का आह्वान करते हुए कहा कि आज महंगाई देश का सबसे बड़ा अभिशाप है। सरकार की नीति का विरोध करना जरूरी हो गया है। वस्तुओं की आसमान छूती कीमतों से आमजन प्रभावित हुआ है। सरकार को महंगाई पर नियंत्रण करने के लिए कड़ाई से कार्रवाई करने की आवश्यकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local