कोरबा। नईदुनिया प्रतिनिधि

नगर पालिका परिषद दीपका के वार्ड क्रमांक आठ वल्लभभाई पटेल नगर से मदन राजपूत निर्विरोध पार्षद बन गए हैं। यहां भाजपा से कोई प्रत्याशी नहीं उतारा गया था। तीन निर्दलीय प्रत्याशी नामांकन भरे थे, सभी ने नाम वापस ले लिया। इस वार्ड में निर्विरोध पार्षद चुने जाने की परंपरा पिछले 15 साल से चली आ रही। मदन को कांग्रेस ने समर्थन देते हुए टिकट दिया था। इसके बावजूद उसने निर्दलीय फॉर्म जमा किया।

नगरीय निकाय चुनान में पार्टी के मैदान में उतारे गए प्रत्याशी को लेकर कई स्थान पर विरोध हो रहा है और बगावत करते हुए कार्यकर्ता मैदान में उतर आए हैंं। दूसरी तरफ नगर पालिका परिषद दीपका का एक ऐसा वार्ड भी है, जहां निर्विरोध पार्षद बनते रहे हैं। दरअसल इस वार्ड में रहने वाले आपस में ही सलाहकर प्रत्याशी का नाम चयन करते हैं। यदि इस निर्णय से कुछ लोग असहमत होते हैं या किसी बाहर के वार्ड का प्रत्याशी चुनाव लड़ता है तो उसे मुंह की खानी पड़ती है। वार्ड में कुल 503 मतदाता हैं, जो अपने पार्षद का चयन एकमत होकर करते आए हैं। फरवरी 2003 में गठित दीपका नगर पालिका में वर्ष 2004-05 में पहली बार यहां चुनाव हुआ। पहले चुनाव से ही दीपका का वार्ड क्रमांक आठ वल्लभभाई पटेल नगर अपने पार्षद के चयन के लिए निर्विरोध प्रक्रिया के लिए सुर्खियों में रहा और वही परंपरा आगामी दो चुनाव तक जारी रही। पहले चुनाव में यहां के निवासी विष्णु प्रसाद कुर्मी निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरते हुए निर्विरोध पार्षद चुने गए। वर्ष 2009 के निकाय चुनाव में भी निर्दलीय उम्मीदवारी करते हुए महिला नेत्री अनिता बत्रा पार्षद चुनी गईं और उसके बाद उन्होंने नगर पालिका के उपाध्यक्ष पद की बागडोर भी संभाली। वर्ष 2014 के चुनाव में गुरजीत सिंह ने भी निर्दलीय पार्षद के रूप में विजय हासिल की। इस बार कांग्रेस ने यहां से मदन सिंह राजपूत को प्रत्याशी बनाया, पर भाजपा की सूची में इस वार्ड से किसी को टिकट नहीं दी गई। वहीं तीन निर्दलीय प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया। बताया जा रहा है कि दो दिन की समझाइश व मतदाताओं का रुख देखने के बाद तीनों प्रत्याशियों ने सोमवार को नाम वापस ले लिया। इसके साथ कांग्रेस के प्रत्याशी मदन सिंह राजपूत निर्विरोध चुन लिए गए। हालांकि निर्वाचन अधिकारी इसकी अधिकृत घोषणा 24 दिसंबर को मतगणना के दिन करेंगे।

पिछली बार तीन प्रत्याशी, एकतरफा वोट

वल्लभभाई पटेल नगर में दो बार चुनाव की नौबत नहीं आई और निर्विरोध पार्षद चुने गए। ऐसी स्थिति यहां तब से है, जब दीपका पंचायत थी। तीसरे कार्यकाल के चुनाव के लिए भी यहां तीन निर्दलीय प्रत्याशियों ने किस्मत आजमाते हुए चुनाव लड़ा, लेकिन वार्ड के मतदाताओं ने उसी की जीत सुनिश्चित की, जिन्हें सर्वसम्मति से पहले ही चुन लिया गया था। गुरदीप सिंह इस वार्ड के तीसरे पार्षद बने, जिनके विपरीत पहली बार यहां दो अन्य प्रत्याशियों जूली स्वाई व संतोषी महिलांगे ने भी चुनाव लड़ा था, तब मतदाताओं को घर से निकल कर पोलिंग बूथ तक आना पड़ा।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket