कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दीपका खदान में पर्ची बाबू के हस्ताक्षर बगैर सीधे गाड़ियों को लो?डिंग स्थल पर भेज दिया गया। जानकारी मिलने पर प्रबंधन ने एक गाड़ी को ब्लैक लिस्ट किया, जबकि 34 अन्य गाड़ियों की जांच की जा रही है।

साउथ इस्टर्न कोलफिल्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) की दीपका खदान में रोड सेल के माध्यम से कोयला अन्य क्षेत्र में आपूर्ति किया जाता है। बताया जा रहा है कि रोड सेल से कोयला उठाव के लिए डीओ लगाया गया है। तिवरता की अशोक कंपनी द्वारा द्वारा बिना पर्ची बाबू के हस्ताक्षर के ही सीधे गाड़ियों को लोडिंग पांइंट तक पहुंचा दिया गया। इसकी जानकारी जब दूसरे लिफ्टरों को हुई, तो उन्होंने हस्तक्षेप किया। जानकारी मिलने पर दीपका प्रबंधन हरकत में आया और गाड़ियों को रोक कर जांच की। इस दौरान प्रबंधन ने एक गाड़ी को ब्लैक लिस्ट किया है बाकी 34 ट्रको की जांच की जा रही हैं। उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले भी इसी तरह एक मामले में विंड एनर्जी की 50 गाड़ियों को बिना पर्ची के ही फर्जी हस्ताक्षर के साथ एसईसीएल प्रबंधन ने पकड़ा था, इस पर अभी कार्रवाई चल ही रही है और अब पुनः घटना सामने आ गई। अशोक कंपनी द्वारा करीब 35 गाड़ियों को गलत ढंग से खदान के अंदर प्रवेश कराया गया। लगातार हो रही इस तरह की कार्यप्रणाली से एसईसीएल प्रबंधन भी हरकत में आ गया है। प्रबंधन महज वाहनों को ब्लैक लिस्ट कर अपने कर्तव्य को इतिश्री कर लेता हैं जबकि ऐसे मामलों में पुलिस का हस्तक्षेप जरूरी है। बहरहाल बाकी 34 गाड़ियों पर प्रबंधन क्या कार्रवाई करती है, इस पर सभी की नजर टिकी हुई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local