बैकुंठपुर । शहर के जूनापारा इलाके गुरुवार की अलसुबह में चार नकाबपोश लुटेरों ने एक घर की छत के दरवाजे के रास्ते अंदर दाखिल होकर नींद में सो रहे परिवार को उठाया और उन्हें धारदार हथियार दिखाकर बंधक बना लिया। इसके बाद लुटेरों ने 30 मिनट तक परिवार के सदस्यों को दहशत में रखा और फिर करीब करीब 6 लाख रुपए नगद और लगभग 2 लाख रुपए कीमत के आभूषण लेकर फरार हो गए। पिछले एक महीने के दौरान बैकुन्ठपुर क्षेत्र में परिवार को बंधक बनाकर इस तरह लूट की वारदात को अंजाम देने की यह चौथी घटना है। अब यह गिरोह पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बन गया है।

बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के जूनापारा में रहने वाले जगदीश शिवहरे के घर पर शुक्रवार की अल सुबह यह घटना घटी। नकाबपोशों ने घर में दाखिल होने के बाद परिवार के सदस्यों को एक कमरे में कैद कर लिया। लुटेरों ने परिवार के सदस्यों से यह कहा कि परेशान मत हो, सहयोग करो, हम अपना काम करके चले जाएंगे।

घर में घुसने के साथ ही आरोपियों ने सभी सदस्यों के मोबाइल फोन छीन लिया था और उन्हें लगातार धारदार हथियार दिखा कर डराते धमकाते रहे। घर में दाखिल होते ही सबसे पहले एक नकाब पोश घर के मालिक 60 वर्षीय जगदीश शिवहरे को जगाया और उन्हे बंधक बनाया।

घर में इस वक्त जगदीश के अलावा उनकी बेटी शालिनी शिवहरे व उनकी बहू रानी शिवहरे मौजूद थीं। सभी लुटेरे काले रंग का नकाब और काले कपड़े पहने हुए थे। जाते-जाते लुटेरे अपने साथ सीसीटीवी कैमरे की हार्डडिस्क भी ले गए। सुबह पुलिस को इस घटना की जानकारी दी गई। पुलिस अब आरोपियों की तलाश कर रही है। कोरिया जिले में माह के भीतर घर के अंदर दाखिल होकर लूट और डकैती को अंजाम देने की यह लगातार चौथी वारदात है।

Posted By: