महासमुंद। नईदुनिया न्यूज।

कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका खत्म करने के लिए होम आइसोलेशन सबसे उपयुक्त उपाय है। लेकिन होम आइसोलशन में सुरक्षति रहने के प्रति जानकारी और जागरूकता के अभाव में इसका प्रभाव निष्क्रिय हो जाने की संभावना भी हो सकती है। इसे देखते हुए लोगों को सतर्क और सजग रहने की हिदायत देने के लिए जिले में राष्ट्रीय बाल सुरक्षा कार्यक्रम के 11 दलों को उन क्षेत्रों के लिए रवाना किया गया है, जहां हाल ही में विदेश यात्रा कर लौटे स्थानीय लोगों के निवासरत होने की सूचना सहित कोविड-19 के कुल करीब 28 संदिग्ध मरीजों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। इस दौरान चिकित्सक से दिए गए सुरक्षा निर्देशों का शत-प्रतिशत पालन किया जा रहा है।

आरबीएसके के इन भ्रमण दलों में चिकित्सा अधिकारी (आयुष), एएनएम, फार्मासिस्ट एवं प्रयोगशाला प्रशिक्षक शहरी एवं ग्रामीण दोनों ही अंचलों में मौके पर जाकर न केवल संदिग्ध मरीजों का मुआयना कर रहे हैं, बल्कि होम आइसोलेशन में रहकर संक्रमण से बचने और बचाने के तरीके भी सिखा रहे हैं। जिले के सभी विकासखंडों में क्रमश महासमुंद, पिथौरा, बसना, सरायपाली व बागबाहरा में अलग-अलग दल अपने-अपने क्षेत्रों में होम आइसोलेशन को सफल बनाने में जुटे हुए हैं। लोग कोरोना से सम्बंधित जानकारी टोल फ्री नंबर 104, जिला स्तरीय कंट्रोल रूम नम्बर 62677-70531 पर साझा कर सकते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket