महासमुंद। नईदुनिया न्यूज

एक ओर कोरोना वायरस दुनिया भर में हजारों की संख्या में लोगों को असामयिक मृत्यु का शिकार बना चुका है। वहीं, दूसरी ओर इसका इलाज ढूंढ रहे वैज्ञानिकों सहित पीड़ितों के उपचार में जुटे चिकित्सकों के लिए यह अब भी कौतुहल का विषय बना हुआ है। कोरोना विरुद्ध लड़ाई में शासन-प्रशासन, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग का अमला दिन-रात लगा हुआ है, वहीं आमजन से लगातार अपील की जा रही है कि संक्रमण रोकने के लिए विशेषज्ञों से दी जा रही हिदायतों का कड़ाई से पालन किया जाए। जिले के अधिकांश स्थानीय निवासियों का इस ओर सहयोग सराहनीय रहा है। लेकिन कुछेक कोनों में लोगों द्वारा होम-क्वारंटाइन को गंभीरता से नहीं लिए जाने की आशंका व्यक्त की जा रही है। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।

प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा आरके परदल के मुताबिक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, छग शासन से स्थानीय निवासियों की ओर विनम्र अपील के साथ चेतावनी संदेश भी प्रेषित किया गया है। ऐसे में विभाग की मंशा को स्पष्ट करते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक संदीप ताम्रकार ने बताया कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी निर्देशानुसार प्रदेश ही नहीं अपितु जिले में भी यदि कोई भी व्यक्ति होम क्वारांटाइन के नियमों का उल्लंघन करता है तो इससे संक्रमण फैलने का खतरा तो बढ़ता ही है। साथ ही इन नियमों का पालन न करने पर उसके विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 269, 270, 188 और एपिडेमिक एक्ट 1897 के सेक्शन तीन की धाराओं के तहत कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है। कोरोना वायरस संक्रमण दल के नोडल अधिकारी डॉ अनिरुद्ध कसार ने अपील की है कि आमजन होम क्वारंटीन के नियमों का पालन करें और घर पर ही रहें।

----

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket