बसना। नईदुनिया न्यूज।

जब सभी शैक्षणिक अहर्ताओं को पूरा कर लेने के बावजूद युवाओं को केवल नियुक्ति के लिए एक बार सीएम हाउस और एक बार लोक शिक्षण संचालनालय घेराव करने की नोबत आन पड़ी है तो यह दर्शाता है कि प्रदेश के मुखिया कितनी गहरी नींद में सोए हैं। उक्त बातें भारतीय जनता युवा मोर्चा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य पीयूष मिश्रा ने कही।

मिश्रा ने एक विज्ञप्ति के माध्यम से प्रदेश के मुखिया को युवाओं के रोजगार को लेकर घेरा है। उन्होंने कहा कि समाचार पत्रों एवं सोशल मीडिया पर सरकार यह बता रही है कि प्रदेश में वैश्विक महामारी के बावजूद बेरोजगारी दर केवल दो प्रतिशत ही है पर, धरातल पर देखा जाए तो स्थिति इससे बिल्कुल उलट है।

अन्य विभागों को अगर छोड़ दिया जाए केवल शिक्षा विभाग की ही बात करें तो 2019 में हुए 14500 शिक्षक भर्ती में अब तक कि सबसे बड़ी लापरवाही देखने को मिल रही है। इस तारतम्य में शिक्षकों ने एक बार सीएम हाउस का घेराव भी किया था उस वक्त तो मुख्यमंत्री ने सात दिनों के भीतर जांच कर यथाशीघ्र भर्ती करने की बात कर दी, पर लापरवाही का आलम देखिए कि उसके दो महीने के बाद भी कुछ नही हुआ और मजबूरी वश शिक्षकों को मंत्रालय स्थित शिक्षा विभाग का घेराव करना पड़ा।

कई बार से वेरिफिकेशन और निस्तता का दंश झेल चुके छात्रों को अब अगर जल्द नियुक्ति नही दी गई तो युवा मोर्चा अब सड़कों पर उतरेगी और युवाओं को न्याय दिलाने का काम करेगी,युवाओं के हक की लड़ाई लड़ने के लिए भारतीय जनता युवा मोर्चा सदैव तत्पर है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस