महासमुंद। नईदुनिया प्रतिनिधि

नामांकन वापसी के लिए निर्धारित समयावधि में कांग्रेस और भाजपा ने दो-दो बागियों को मना कर नाम वापस कराने में सफलता हासिल की है। सोमवार को अपरान्ह तीन बजे तक नाम वापसी के लिए समय निर्धारित था। इस दौरान महासमुंद पालिका क्षेत्र से भाजपा के वार्ड आठ से बागी प्रत्याशी तेजराम साहू, वार्ड 16 से भाजपा के बागी आकाश सोनी, वार्ड 26 से मयंक जायसवाल और वार्ड 29 से गौरव चंद्राकर ने नामांकन वापस लिया। इस तरह महासमुंद पालिका क्षेत्र के लिए 149 नामांकन प्राप्त हुआ था, जिसमें वार्ड 9 से प्रियंका सेंद्रे का नामांकन निरस्त हुआ। शेष 148 में से 4 अभ्यर्थियों ने नामांकन वापस लिया, लिहाजा 144 लोग पार्षद के 30 सीटों पर चुनाव मैदान में हैं। सोमवार की शाम इन्हें प्रतीक चिन्हों का आवंटन किया गया।

----------

सुखबती ने नहीं लिया नाम वापस

फोटो-09 एमएसएमडी 18

कैप्शन- विधायक के साथ कलेक्टोरेट पहुंची सूखबती साहू।

विधायक के साथ कलेक्टोरेट गई सुखबती ने नहीं लिया नाम वापस

कांग्रेस ने वार्ड क्रमांक 14 में पार्टी का प्रत्याशी बदल दिया है। गिरीश देवांगन के हस्ताक्षर से जारी सूची में महासमुंद वार्ड 14 से सूखबती साहू को प्रत्याशी घोषित किया गया था। बाद यहां बी फार्म हाल ही में भाजपा से कांग्रेस प्रवेश करने वाली पूर्व पार्षद विमला चंद्राकर के नाम पर जमा हुआ। विधायक का निवास भी वार्ड 14 में है। लिहाजा यह सीट विधायक की प्रतिष्ठा से जुड़ा है। सोमवार को सूखबती साहू विधायक के साथ वाहन में सवार होकर कलेक्टोरेट पहुंची। लेकिन नाम वापस लेने से इंकार कर दिया। यहां मनाने की भी कोशिश की गई। अब सूखबती साहू वार्ड 14 से निर्दलीय मैदान में हैं। ज्ञात हो कि पिछड़ा वर्ग महिला आरक्षति वार्ड में कांग्रेस के पास दावेदार की कमी थी। यहां भाजपा से घोषित सरला मदनकार और भाजपा से ही टिकट मांग रही विमला चंद्राकर ने वाल पेंटिंग कराई थी। बाद विमला को टिकट नहीं मिली, तब कांग्रेस प्रवेश कराकर कांग्रेस ने टिकट दिया।

कांग्रेस में आठ और भाजपा में 23 बागी मैदान में

महासमुंद कांग्रेस शहर अध्यक्ष जसबीर ढिल्लों ने बताया कि चुनाव मैदान में कांग्रेस के आठ बागी हैं। इनकी पार्टी में विधिवत सदस्यता है, जो पार्टी के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं। वहीं शहर मंडल अध्यक्ष सतपाल पाली ने बताया कि भाजपा के 23 सदस्य बागी के तौर पर चुनाव मैदान में हैं। जिनका पार्टी में विधिवत सदस्यता है पार्टी उसे ही बागी मान रही है। चुनाव के दौरान कांग्रेस या भाजपा से टिकट मांगने वाले गैर सदस्यताधारी लोगों को दोनों पार्टी बागी नहीं मान रही है।

---

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020