महासमुंद। नईदुनिया प्रतिनिधि

नगरीय निकाय चुनाव के लिए प्रचार प्रसार जोरों पर है। हर प्रत्याशी पूरी ताकत लगाकर वार्ड ने एक-एक मतदाता का मत पाने एड़ी चोटी का दम लगा रहा है। साउंड सिस्टम, गीत गाने, हैंडबिल, बैनर-पोस्टर, रैली और हर घर जनसंपर्क जारी है।

21 दिसंबर को मतदान होना है। अब सिर्फ सात दिन का समय शेष रह गया है। लिहाजा प्रचार में गति आ गई है।

जिले के छह नगरीय निकाय के 105 पार्षद पद के लिए चुनाव हो रहा है। 95 हजार 100 मतदाता प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। महासमुंद पालिका क्षेत्र जिला में सबसे बड़ा है। यहां सर्वाधिक 30 वार्ड है। 144 प्रत्याशी मैदान में हैं। नगर में 43391 मतदाता हैं जो 21 दिसंबर को मतदान कर शहर के 30 पार्षद चुनेंगे।

मतदाता में महिलाएं अधिक

जिले में मतदाताओं की संख्या में महिलाएं अधिक हैं। 95100 में महिलाओं की संख्या 48894 है। जबकि महासमुंद शहर में 22583 महिला मतदाता हैं। जो कि पुरुष मतदाता से दो हजार अधिक हैं।

ग्राउंड लेबल पर नही हो रहा मतदाता जागरूकता अभियान

मतदाता जागरूकता के लिए इन दिनों प्रशासनिक स्तर पर प्रचार हो रहा है। स्कूल कालेज, संस्थाओं में ही यह अभियान चल रहा है, लेकिन देखा जा रहा है वार्डों में मतदाताओं को वोट का महत्व बताने अभियान जमीनी स्तर पर नही चल रहा है।

40 फीसद से अधिक महिलाओं का रुझान

चुनाव आयोग ने निकाय चुनाव में महिला आरक्षण 33 फीसद दिया है। महासमुंद नगर के 30 वार्ड में 10 महिला आरक्षित है। बावजूद इसके नगर के तीन से चार ऐसे वार्ड हैं जहां महिला उम्मीदवार पुरुषों को टक्कर दे रहे हैं। वार्डों के रुझानों की माने तो पालिका में 30 फीसद से अधिक महिलाओं की भागीदारी होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

महिलाओं की भागीदारी की वजह से ही बीते पंचवर्षीय चुनाव में उपाध्यक्ष पद पर महिला पार्षद चुनी गई थी।

दो भाई लड़ रहे दो वार्ड में, दोनों को एक निशान

नगर में स्वादिष्ट चाय के लिए एक टी स्टाल ख्यात है। टी स्टाल संचालक दो भाइयों ने एक राष्ट्रीय पार्टी से दो अलग अलग वार्ड से टिकट की मांग की, पार्टी ने दोनों को टिकट नहीं दी। अब दोनों भाई निर्दलीय मैदान में हैं और दोनों के वार्ड उतर और अलग अलग छोर पर है। इत्तेफाक ऐसा की दोनों को निशान भी एक मिला है।

दो पार्षद पोस्टर विवाद में झगड़े

चुनाव को लेकर रोज नई-नई बातें सामने आ रही है। दो दिन पहले मौजूदा दो पार्षद वार्ड में पोस्टर फाड़े जाने के विवाद पर झगड़ पड़े। फिलहाल दोनों पार्षद की पत्नी इस बार आमने सामने हैं। मामला थाना तक पहुंचा, बाद सुलह हो गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket