महासमुंद(नईदुनिया न्यूज)। कृषि विज्ञान केंद्र भलेसर में शनिवार को किसानों को खरपतवार नाशक व कीटनाशक का वितरण किया गया। बायोटेक किसान हब परियोजना के मुख्य संचालक व वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख केवीके डॉ. एस के वर्मा ने बताया कि वर्तमान में फसल गभोट अवस्था में है।

बायोटेक किसान परियोजना के अंतर्गत पांच गांव परसवानी, बिरकोनी, बरबसपुर अछोला और साराडीह में इस वर्ष खरीफ में प्रतिगांव में 10-10 एकड़ क्षेत्रफल में धान की नई किस्म जिन्को राइस पी एवं पीपी का प्रदर्शन लगाया गया है जिसके अंतर्गत किसानों को प्रति एकड़ धान बीज, मेंड़ों पर लगाने के लिए अरहर (राजीवलोचन) बीज, स्यूडोमोनास से बीजोपचार, नींदा नियंत्रण के लिए खरपतवार नाशक एवं कीट व्याधि नियंत्रण के लिए कीटनाशक का प्रति किसान प्रति एकड़ वितरण किया गया है। बदलते मौसम का प्रभाव धान फसल में दिख रहा है। जिले में अभी तना छेदक और भूरा माहू का सबसे ज्यादा प्रकोप दिख रहा है। इससे निपटने के लिए कृषि विज्ञानी नियमित रूप से संपर्क में है एवं पूरी तकनीकी सलाह एवं जानकारी दे रहे है। केंद्र से इन 50 किसानों का एक वाटसएप ग्रुप भी बनाया गया है, जिसमें किसानों को उचित मार्गदर्शन एवं उनकी समस्याओं का निराकरण नियमित रूप से किया जाता है। जिन किसानों के खेतों में लगी धान की पत्तियां फट गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020