महासमुंद(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिला योजना समिति चुनाव में सभी पदों पर कांग्रेस ने कब्जा जमा लिया है। जिला पंचायत से 11 सदस्य निर्विरोध चुने गए हैं।

जिला योजना समिति के लिए नगरीय निकाय से कांग्रेस पार्षद प्रीति बादल मक्कड़ ने भाजपा के गुंजन अग्रवाल को तीन मतों से परास्त किया। जिला योजना समिति में नगरीय निकाय क्षेत्र से एक प्रतिनिधि को शामिल करना था। जिसके लिए कांग्रेस ने महासमुंद नगर पालिका की पार्षद प्रत्याशी प्रीति बादल मक्कड़ को और भाजपा ने सरायपाली नगर पालिका के पार्षद गुंजन अग्रवाल को प्रत्याशी घोषित किया था। इस पद के लिए नगरीय निकाय क्षेत्र के 105 पार्षदों को मताधिकार करना था, जिसमें से 102 पार्षदों ने अपने मताधिकार का उपयोग किया, वहीं दो पार्षद अनुपस्थित रहे, जबकि एक पद रिक्त है। कश्मकश मुकाबले में प्रीति बादल को 51 मत मिले। इस प्रकार तीन वोटों से गुंजन अग्रवाल को परास्त किया। गुंजन को 48 मत मिले। वहीं तीन मत निरस्त होने की जानकारी है। दोनों दल अपने प्रत्याशियों को विजयी बनाने तीन-चार दिनों से एड़ी-चोटी का जोर लगा रहे थे। मंगलवार 24 नवंबर को भाजपा और कांग्रेस अपने-अपने पार्षदों को एकजुट करने में लगे हुए थे। सिरपुर में भाजपा की बैठक भी हुई थी। कांग्रेस ने अलग-अलग विधानसभा के हिसाब से लामबंद में लगे रहे। वैसे शुरू से कांग्रेस को मजबूत माना जा रहा था। बुधवार को टाउनहाल में नगरीय निकाय के लिए मतदान केंद्र बनाया गया था। पीठासीन अधिकारी बीएस मरकाम ने सुबह 11 से चार बजे तक मतदान करवाया। बाद मतों की गिनती हुई और परिणाम घोषित किया गया।

इसी तरह जिला पंचायत से कांग्रेस उम्मीदवार उषा पटेल, लक्ष्मण पटेल, अमर चंद्राकर, गीता बंजारे, जागेश्वर जुगून चंद्राकर, टिकेचंद माछू, नोविना जगत, बसंता ठाकुर, सीमा निर्मलकर, हेम दीवान व भाजपा से हेम कुमारी नायक, जिला योजना समिति के लिए निर्विरोध चुने गए। जिला पंचायत से 11 सदस्यों को जिला योजना समिति में लिया जाना था। एक-एक नामांकन होने से सभी निर्विरोध चुने गए। जिला पंचायत में भाजपा के चार सदस्य हैं, जिन्हें निर्वाचन में हिस्सा लेने के लिए पार्टी से कोई निर्देश जारी नहीं किया गया था, लिहाजा भाजपा ने वाकओवर दिया। पीठासीन अधिकारी डिप्टी कलेक्टर पूजा बंसल ने बुधवार को चुनाव संबंधी सभी कार्य जिला पंचायत में संपन्न कराया।

जिला पंचायत में नहीं था संख्या बल

इधर जिला पंचायत में भाजपा के चार सदस्य होने के बाद भी जिला योजना समिति के 11 पदों के लिए उम्मीदवार नहीं बनाए जाने के सवाल पर जिलाध्यक्ष रूपकुमारी चौधरी ने कहा कि जिला पंचायत में भाजपा पर्याप्त संख्या बल में नहीं है। इसलिए पार्टी ने इन पदों के लिए उम्मीदवार तय नहीं किया। वैसे भी भाजपा के एक सदस्य जिले से बाहर प्रवास पर हैं, वहीं दो सदस्यों ने अपनी व्यक्तिगत समस्या बताई, जिससे पार्टी ने इन पदों पर उम्मीदवारी नहीं की।

ज्ञात हो कि जिला पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष चुनाव में भाजपा के पास यही चार सदस्य थे, बावजूद अध्यक्ष के लिये अल्का चंद्राकर व उपाध्यक्ष के लिए हेमकुमारी को मैदान में उतारा गया था। इस बार भाजपा जिला योजना समिति चुनाव में मैदान में उतरने की भी हिम्मत नहीं जुटा पाई। जिसकी राजनीतिक हल्को में चर्चा व्याप्त है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस