महासमुंद। जिला सहकारी बैंक में एटीएम खुलने के बाद भी किसानों की भीड काउंटर में कम नहीं हो रही है।

किसान अब भी काउंटर से रकम लेने को ज्यादा भरोसेमंद समझ रहे हैं, जबकि एटीएम से रकम निकालने में उन्हें ठगी का अज्ञात भय है।

किसान अब भी सीधे बैंक से ही लेनदेन कर रहे हैं। बैंक का एटीएम शो-पीस बनकर रह गया है।

जिला सहकारी बैंक में लगने वाली भीड़ को कम करने के एटीएम की स्थापना की गई है। बावजूद इसके बैंक में आ रहे उपभोक्ता एटीएम की बजाए काउंटर से ही लेनदेन कर रहे हैं। इधर, किसानों का कहना है कि एटीएम में साइबर क्राइम की हुई घटनाओं के कारण वे एटीएम का उपयोग की बजाए बैंक से लेनदेन करने को ज्यादा सुरक्षित मानते है।

बरोंडा बाजार के किसान रामलाल साहू, मोंगरा के किसान प्रेमलाल कन्नौजे ने बताया कि उनके पास एटीएम है लेकिन ठगी के भय से वे बैंक से ही लेनदेन करते हैं। हालांकि कुछ किसान हैं जो एटीएम का उपयोग कर रहे है।

ज्ञात हो कि मुख्यालय स्थित जिला सहकारी बैंक में करीब आठ गांवों के किसान लेनदेन के लिए पहुंचते हैं। धान खरीदी शुरू होने के बाद रकम निकालने के लिए बड़ी संख्या में किसान यहां पहुंच रहे है जो काउंटर में लाइन लगाकर खड़े हैं।

मास्क का उपयोग नहीं कर रहे किसान

जिले में लगातार कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है, बावजूद इसके किसान मास्क का उपयोग नहीं कर रहे है।

शनिवार को बैंक पहुंचे किसानों में कई किसान बिना मास्क के नजर आए। बैंक पिरसर में शासन के कोविड नियम का भी पालन नही हो रहा है।

काउंटर के बाहर रकम निकालने पहुंचे किसान बिना मास्क के भीड़ में खड़े हो रहे हैं। बावजूद इसके बैंक प्रबंधन का रवैया उदासीन रहा, यहां मास्क, शारीरिक दूरी के लिए टोकने वाला कोई नहीं है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local