बागबाहरा। नगर में कई स्थान पर कबाड़ियों का अवैध कारोबार चल रहा है। पुलिस इन कबाड़ियों के दुकानों की जांच कर कार्रवाई करने में गंभीर नहीं दिख रही है। इन कबाड़ी के गोदाम में मोटर साइकिल सहित अन्य गाड़ियों की सामग्री बड़ी आसानी से मिल जाती है।

शहर की आबादी के बीच चलने वाली इन दुकानों पर हर चीज कबाड़ के भाव खरीदी जाती है। छोटी-बड़ी गाड़ियों को काटकर कबाड़ में तब्दील कर देना इन कबाड़ियों के बाएं हाथ का खेल बना हुआ है।

इन दुकानदारों के पास न तो गाड़ियों को खरीदने का लाइसेंस है और न ही वाहनों को काटने की प्रशासनिक अनुमति। फिर भी सभी काम बेखौफ हो रहे हैं।

इतना ही नही ये कबाड़ी शहर के आवासीय क्षेत्र में घरेलू गैस सिलेंडर से गाड़ियां व अन्य कीमती सामनो को काटने खुलेआम उपयोग कर रहे हैं। जिससे बड़ा हादसा होने की संभावनाएं बनी हुई है। पुलिस को इन दुकानों में अन्य संदिग्ध सामग्री की खरीदी बिक्री होने की लगातार जानकारी मिलती है, लेकिन पुलिस के पास इन दुकानों की जांच करने फुर्सत नहीं है। पुलिस की उदासीनता या अनदेखी से ही अधिकांश कबाड़ी दुकान कबाड़ काटने में लगे हैं।

खुलेआम सड़क में कर रहे दुकानदारी

इन कबाड़ियों में प्रशासन का जरा सा भी भय नही है। नगरीय सीमा पर ही लंबे समय से कबाड़ियों का धंधा बेरोक टोक संचालित हो रहा है। कबाड़ी सड़कों में ही कबाड़ का सामान बेधड़क क्रय विक्रय करते आ रहे हैं।

बेखौफ होकर काट रहे हैं गाड़ियां

नगर में ही आधा दर्जन से भी अधिक कबाड़ के व्यवसायी हैं। इनमे ज्यादातर बेरोक-टोक बेखौफ होकर कबाड़ का अवैध कारोबार कर रहे हैं। इन पर किसी का नियंत्रण नहीं होने से कबाड़ी बिना सत्यापन के साइकिल, मोटरसाइकिल एवं अन्य सामान को बेधड़क खरीद रहे हैं।

--

नगर के कबाड़ी दुकानों की सतत जांच होती है। पैट्रोलिंग टीम जांच में जाती है। वाहन काटने का कोई मामला अबतक संज्ञान में नहीं आया।

-दीपेश जायसवाल टीआइ बागबाहरा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local