खरियार रोड (नईदुनिया न्यूज़)। LockDown in Mahasamund : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19)के प्रसार को रोकने के लिए केंद्र व राज्य सरकारें हरसंभव प्रयास कर रहीं है । कोरोना वायरस के बढते मामलों को देखते हुए देश में लॉकडाउन की अवधि भी बढ़ाई जा चुकी है ।

देश में बीते 24 दिन दिनों से लॉकडाउन और प्रवासी मजदूरों का अपने गृहग्राम लौटना जारी है । जो जहां है उसे वहीं क्वारंटाइन करने के निर्देश केंद्र सरकार दोहराते आ रहीं है। बावुजूद इसके छत्तीसगढ़ पुलिस लॉकडाउन के नियमों को तोड़ते हुए अन्य राज्यों के लिए निकले लोगों को रोक कर उनके खानेपीने की व्यवस्था करने और उन्हें वहीं रोकने के बजाए मानवता का हवाला देते हुए छोड़ रही है।

शुक्रवार की सुबह करीब 10 बजे दो ट्रकों में सवार होकर आठ मजदूर ओडिशा के खरियार रोड पहुंचे । प्राप्त जानकारी के अनुसार ये मजदूर 12 अप्रैल को महाराष्ट्र के नागपुर से ओडिशा के नुआपड़ा जिला के लिए पैदल निकले थे। ये महाराष्ट्र की सीमा लांघकर छत्तीसगढ़ में दाखिल हुए और राजधानी रायपुर पार करते हुए आरंग तक पहुंच गए।

मजदूरों ने बताया कि आरंग पहुंचने पर छत्तीसगढ़ पुलिस के एक कर्मी ने उन्हें रोका किन्तु उन्हें वहीं ठहराने के बजाए राजस्थान से ओडिशा के लांजीगढ़ जा रहीं चुना से लदी पंजाब की दो ट्रकों में बैठाकर ओडिशा भेज दिया है। उक्त पुलिस कर्मी ने एक वीडियो भी बनाया है जिसमें वह कह रहा है कि वह छत्तीसगढ़ पुलिस से है और मानवता के नाते इन्हें ओडिशा भेज रहा है। इन्हें रास्ते में कहीं रोका न जाए।

ओडिशा पुलिस भी इन्हें आगे जाने दे। जवान ने वीडियो में कहा कि ट्रक चालकों की सुविधा के लिए ये वीडियो बनाया है। इतना कह कर उसने मजदूरों को रवाना कर दिया। आरंग के बाद रास्ते में कुछ और जगह छत्तीसगढ़ पुलिस ने ट्रक को रोका, लेकिन वीडियो दिखाने पर उन्हें छोड़ दिया गया ।

प्रावधान अनुसार मालवाहक वाहनों में यात्रियों का सफर करना गैर कानूनी है । छत्तीसगढ़ पुलिस न सिर्फ केंद्र सरकार के आदेशों की अवहेलना की, बल्कि ट्रक चालक के मना करने पर भी मजदूरों को ट्रक में बैठा दिया। ट्रकों में लदे माल के ऊपर बैठे ये यात्री दुर्घटना के शिकार भी हो सकते थे ।

छत्तीसगढ़ बॉर्डर पार कर ओडिशा के खरियार रोड पहुंचने पर ओडिशा पुलिस ने स्थानीय आमसेना चौक में ट्रकों को रोक लिया और सभी मजदूरों सहित ट्रकों के ड्राइवर व हेल्पर का स्वास्थ्य जांच करवा कर गोपबंधु स्कूल में बनाए गए फेसिलिटी सेन्टर में उनके खाने पीने और रहने की व्यवस्था कर उन्हें क्वारंटाइन कर दिया । ये कोई पहली घटना नहीं है ।

छत्तीसगढ़ की सीमा सील होने के बावुजूद छत्तीसगढ़ से प्रवासी मजदूरों का ओडिशा आना जारी है। शुक्रवार की सुबह पांच बजे चार अन्य मजदूर भी छत्तीसगढ़ से ओडिशा पहुचे है। छत्तीसगढ़ पुलिस ओडिशा आनेवालों को पूरी छूट दे रहीं है किंतु कोई ओडिशा से छत्तीसगढ़ जाए तो उसे सीमा लांघने नहीं दिया जा रहा है। शु

क्रवार की सुबह मानसिक रोग की दवा लेने जा रहे एक व्यक्ति को छत्तीसगढ़ पुलिस ने पास नहीं होने का हवाला देकर प्रवेश नहीं दिया। लेकिन आंध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम से रायपुर रेफर किए गए कैंसर के एक मरीज के पास डॉक्टर की लिखित रेफर पर्ची होने पर भी रात भर सीमा पर रोककर रखा गया।

उल्लेखनीय होगा कि इससे पहले लगभग दो सप्ताह पूर्व 20 मजदूर भी छत्तीसगढ़ के रायपुर से ओडिशा पैदल पहुंचे में सफल हुए थे । वहीं रामेश्वरम से लौटे महासमुंद जिले के 18 तीर्थयात्रियों को अपने ही राज्य में प्रवेश देने से छत्तीसगढ़ पुलिस ने मना कर दिया था। हालांकि जनप्रतिनिधियों के दबाव बनाने पर उन्हें टेमरी में रखा गया।

ट्रक चालकों के मना करने पर भी बैठा दिया

ट्रक क्रमांक पीबी 29 के 8469 और पीबी 29 एक्स 6669 के चालक दिलप्रीत सिंग और हरजीत सिंग ने नईदुनिया को बताया कि उन्हें रोककर मजदूरों को बैठाने कहा गया। जिसका विरोध किया किन्तु पुलिस नहीं मानी । एक वीडियो बनाकर दे दिया और कहा कि इसे दिखा देना तुम्हे कोई नहीं रोकेगा । लकिन उन्हें ओडिशा पुलिस ने रोक लिया है ।

ये थे ट्रकों में सवार

राजस्थान से ओडिशा के लांजीगढ़ जा रही चुना से लदी ट्रको छत्तीसगढ़ पुलिस के कर्मी ने ओडिशा के नुआपड़ा जिला के कोमना ब्लॉक के पेंड्रावन निवासी जगबंधु बेहेरा(22), शम्भू दास(24), परमेश्वर हंस(19),लक्ष्मण हंस(18),हेमंत सबर(20),कैलाश पूंजी(33),सत्य सबर(28) व प्रदीप सबर(27) को बैठाया था ।

इनका कहना है

जरूरी दस्तावेज के बगैर किसी की भी आवाजाही प्रतिबंधित है। टेमरी में तैनात जवानों ने इन मजदूरों को क्यों नही रोका, यह बड़ी चूक है। जिस जवान ने मानवता के नाते वीडियो बनाई है, यह भी बड़ी बेवकूफी है।

- मेघा टेम्भूरकर, एएसपी महासमुन्द।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस