महासमुंद। महासमुंद। छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री महन्त रामसुन्दर दास ने शनिवार को महासमुंद के ग्राम बिरकोनी उन्होंने स्व सहायता समूह के द्वारा संचालित विभिन्ना आजीविका गतिविधि एवं उत्पादों का अवलोकन भी किया। महन्त एक दिवसीय प्रवास पर राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत किसानों के लिए राशि वितरण के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। कार्यक्रम की समाप्ति के पश्चात वे गोठान निरीक्षण के लिए निकल पड़े।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी लिा पंचायत एस आलोक उनके साथ थे। यह गोठान एक गार्डन की तरह नजर आ रहा था। महन्त ने गोठान में स्वसहायता समूह की महिलाओं से बातचीत की और पूछा कि सरकार कि यह योजना आप लोगों को कैसी लग रही है। महिलाओं ने बताया कि उन्होंने 180 क्विंटल जैविक उर्वरक खाद का निर्माण किया है जो कि एक रिकॉर्ड है। साथ ही उन्होंने मुर्गी पालन में 38 हजार का व्यवसाय किया है। यही नहीं उन्होंने दैनिक आवश्यकता की डिटर्जेंट पाउडर, डाट पेन, सिर में लगाने के बाम जैसे अनेक घरेलू उपयोग की वस्तुओं का कुटीर उद्योग की तरह उत्पादन प्रारंभ किया है। महिलाओं ने कहा कि जब सरकार की योजनायें ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने के बहुत ही महत्वपूर्ण है।

महिलाओं ने कहा कि उन्होंने सपने में भी कभी नहीं सोचा था कि एक दिन ऐसा भी आएगा कि गोबर की खरीदी कोई राज्य सरकार करेगी। महंत ने कहा कि यह व्यवस्थित गोठान आपका है, सरकार ने आपको व्यवस्था के तहत इसे निर्मित करने में आप सभी का सहयोग किया है। जब भी जीवन के कोई सुख दुख के कार्य आते हैं तब आप यहां पर एक पौधा अवश्य लगाएं ताकि यहां की हरियाली में वृद्धि हो। बच्चों के जन्मदिन और अपने पूर्वजों की पुण्यतिथि यहां आकर मनाए तो सभी को गौ सेवा की पुण्य की प्राप्ति होगी। कार्यक्रम का संचालन सीइओ जनपद महासमुंद ने की। इस अवसर पर

जीव जंतु कल्याण बोर्ड से डा झारिया, छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग से एमएल साहू, डा जैन, गांव के सरपंच, महिला स्व सहायता समूह के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव एवं सभी सदस्यगण, निर्मल दास वैष्णव, हर्ष दुबे सहित अनेक जन उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close