महासमुंद। नईदुनिया न्यूज

चैत्र पूर्णिमा पर शुक्रवार को हनुमान जयंती पूरे जोश, उत्साह और धूमधाम से मनाई गई। इस अवसर पर सुबह से ही अंजनी के लाल की पूजा-अर्चना कर महाआरती की गई। पवन पुत्र का अभिषेक-पूजन के साथ ही अलग-अलग स्वरूपों में श्रृंगार हुआ। जगह-जगह भोग-भंडारा का आयोजन किया गया, जिसमें श्रद्धालुओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लेकर प्रसाद लाभ लिया।

श्री सिद्ध संकट मोचन हनुमान मंदिर में आम भंडारा का आयोजन हुआ। दोपहर दो बजे से शाम पांच बजे तक भंडारा में सैकड़ों श्रद्धालुओं ने पहुंचकर प्रसाद ग्रहण किया। वहीं बस स्टैंड हनुमान मंदिर के पास खीर पुड़ी और बूंदी प्रसाद वितरण किया गया। इसी तरह स्वामी चौक, नेहरू चौक, बाजार वार्ड सहित विभिन्न मंदिरों में प्रसाद वितरण किया गया।

हनुमान चालीसा के संगीतमयी जाप से गुंजायमान हुआ शहर

शहर के विभिन्न मंदिरों में सुबह से देर रात तक हनुमान की आरती, चालीसा का संगीतमयी जाप गुंजते रहा, जिससे पूरा माहौल भक्तिमय हो गया। हनुमान जयंती जोश और उत्साह के साथ मनाने युवाओं में उत्साह देखा गया।

शहर में निकाली गई भव्य शोभायात्रा

विश्व हिंदू परिषद एवं बजरंग दल के संयोजन में शाम को भव्य शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा के आगे नागालैंड के ब्रम्हचारियों ने आकर्षक करतब किया, जिसे देखने शहर के लोगों की भीड़ जुट गई। हनुमान जी की भव्य झांकी, धुमाल, अखाड़ा प्रदर्शन, शौर्य प्रदर्शन एवं कराते प्रदर्शन किया गया। श्रीराम जानकी मंदिर महासमुंद से निकाली गई शोभायात्रा गांधी चौक से नीलकंठ चौक होते हुए दादा बाड़ा रोड, अम्बेडकर चौक, स्वामी चौक, नेहरु चौक, कचहरी चौक, बरोण्डा चौक, शास्त्री चौक होते हुए सतबहिनयां चौक में शहर भ्रमण के पश्चात समापन हुआ।