महासमुंद। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले में रेत का उत्खनन प्रतिबंधित है। बावजूद रेत घाटों पर दैत्याकार मशीनें लगाकर रेत की लगातार लोडिंग और ट्रांसपोर्टिंग की जा रही है। खास बात यह है कि रेत माफिया यह काम करने में 24 घंटे डटे हुए हैं। ग्रामीण, जागरूक नागरिक मामले की शिकायत कर रहे हैं, लेकिन राजस्व चोरी रोकने के लिए जिम्मेदार खनिज अमला बेसुध है।

सिरपुर से सात किमी की दूरी पर पासिद पंचायत का आश्रित ग्राम है मुड़ियाडीह। यहां महानदी से रेत निकालने का काम शुक्रवार से लगातार जारी है। बीते मंगलवार को कलेक्टोरेट में भाजपाइयों के प्रदर्शन और विरोध के बाद मुड़ियाडीह में रेत का अवैध उत्खनन दो-तीन दिनों के लिए रोक दिया गया था। बाद शुक्रवार की रात यहां दो चैन माउंटेन लगाकर रेत उत्खनन और परिवहन का काम फिर से शुरू कर दिया गया है। शनिवार-रविवार दिन व रात यह खेल जारी रहा। मामले की जानकारी शुक्रवार रात से खनिज अमले को दी जा रही है। बावजूद अमले ने संज्ञान नहीं लिया।

सिरपुर-तुमगांव रास्ते से निकल रही गाड़िया

मुड़ियाडीह के अवैध रेत घाट से लगातार सिरपुर, तुमगांव के रास्ते सैकड़ों की संख्या में रेत से भरे वाहन गुजर रहे हैं। इसे रोककर पीटपास जांचने में प्रशासन ने रुचि नहीं दिखाई। इससे यह अंदाजा लगाया जा रहा है। प्रभावशील लोगों के संरक्षण में रेत का काला कारोबार जारी है।

घाट पर रखे गए हैं हरियाणा के लठैत

रेत उत्खनन में लगे ज्यादातर कामगार हरियाणवी भाषा में बातचीत करते हैं। इनका काम मशीन से रेत लोड करने के अलावा रेत घाट के आसपास पहुंच रहे ग्रामीणों को रोकने का है। लोगों ने बताया कि सामान्य जानकारी लेने या हो रहे कामकाज को देखने कोई ग्रामीण यहां पहुंचता है तो लोग उन्हें धमकाते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि घाट पर दो चैन माउंटेन मशीन लगी हुई है। दोनों मशीने एक साथ काम कर रही है।

वर्जन

'मुड़ियाडीह का रेत घाट चल रहा है। बीच में बंद कराए थे। अब दो दिन से फिर रेत का उत्खनन, परिवहन हो रहा है। कल सोमवार को फिर बंद करा देंगे।'

-डेविड मन्नाडे, सचिव पासिद

--

वर्जन

'मुड़ियाडीह से रेत का अवैध कारोबार बंद नहीं हुआ है। सूचना मिलने पर शनिवार को कलेक्टर को मामले से अवगत कराए। लेकिन कलेक्टर ने भी मामले में संज्ञान नहीं लिया। रविवार को भी दिन-रात रेत का उत्खनन और परिवहन होता रहा।'

-डॉ. विमल चोपड़ा, पूर्व विधायक महासमुंद।

--

वर्जन

'मुड़ियाडीह में रेत उत्खनन और परिवहन की शिकायत मिली है। मैं फिलहाल अवकाश पर हूं। शिकायत पर खनिज निरीक्षक जितेंद्र चंद्राकर को जांच-कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया गया है।'

-अजयरंजन दास, एएमओ महासमुंद।

--