महासमुंद। नईदुनिया न्यूज

कृषि विज्ञान केंद्र, भलेसर महासमुंद में मंगलवार को पौधरोपण अभियान एवं कृषक संगोष्ठी कार्यक्रम का अयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सांसद चुन्नीलाल साहू उपस्थित थे। कार्यक्रम में फलदार पौधों का रोपण कर पौधारोपण की शुरुआत की गई। इस अवसर पर जनपद पंचायत अध्यक्ष धरमदास महिलांग ने अमरूद के पौधों का रोपण किया गया। इसके उपरांत कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केंद्र अधिष्ठाता डॉ. एएल राठौर के साथ-साथ महाविद्यालय के प्राध्यापकों ने भी फलदार पौधों का रोपण किया गया।

कृषि विज्ञान केंद्र परिसर पर फलदार पौधें एवं वानिकी के 200-200 पौधे रोपण किया गया। जिसमें लसोडा (वोहार भाजी) के 100 पौधे , सीताफल के 50 पौधे एवं अमरूद के 50 पौधों सहित अन्य प्रजातियों के पौधों का रोपण प्रक्षेत्र पर किया गया। इसके अलावा कृषि विज्ञान केंद्र में पांच सौ से अधिक विभिन्न फलदार पौधो एवं 100 वानिकी पौधों का वितरण भलेसर स्कूल के विद्यार्थियों, कृषकों, लाफिनखुर्द एवं लाफिनकला सहित कार्यक्रम में अन्य गांवो से किसानों को पौधों का वितरण किया गया। कृषक संगोष्ठी कार्यक्रम में सांसद साहू ने पौधरोपण के महत्व के बारे में बताते हुए अधिक से अधिक पौधरोपण करने की अपील की। इसके अलावा उन्होंनेजैविक खेती को बढ़ावा देने पर जोर देते हुए किसानों को खेती-किसानी के साथ-साथ पशुपालन करने की सलाह दी गई। कृषि विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. सतीश कुमार वर्मा ने खेती की उन्नत तकनीकों की जानकारी विस्तार पूर्वक कृषकों को दी गई। इसकेे अलावा इफको से आए राजेश कुमार गोले ने इफको ने निर्मित जैविक उर्वरकों के उपयोग करने के लाभ एवं महत्व के बारे में समझाया गया। इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य गोविन्द साहू, जनपद सदस्य किसन देवांगन स्थानीय सरपंच खिलावन साहू के साथ कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक हनुमंत सिंग तोमर, साकेत दुबे, अरविंद नंदनवार, रविश केशरी, एवं निवेदिता पाठक भी प्रमुख रूप से उपस्थित थें। उनके ने भी कृषकों एवं छात्र-छात्राओं को अपने-अपने विषय संबंध में संबोधित किया।