महासमुंद। नईदुनिया न्यूज

सेलिंग एक्सपीडिशन के चौथे दिन, नेवल यूनिट एनसीसी रायपुर के कैडेट ने बेहतर नौचालक का प्रशिक्षण लिया। एक नौचालक के बेहतर कौशल के बारे में कैडेटों को प्रशिक्षित करने पर ध्यान केंद्रित किया गया। कैंप कमांडेंट कमांडर श्रवण कुमार खुंटिया और डिप्टी कैंप कमांडेंट विंग कमांडर वी विशाल ने रेस्क्यू बोट से भाग लेने वाले कैडेट और नावों का निरीक्षण किया। कैडेटों ने बुधवार को 24 किमी की कुल दूरी सुबह पांच बजे से शुरू की। कैडेट और एनसीसी कर्मचारियों ने बुधवार के सेलिंग में सुबह की हवा और ठंड के माहौल का आनंद लिया।

प्रतिभागियों ने 12 किलोमीटर की दूरी तय की और एक द्वीप पर रुककर जलपान किया। इसके बाद कैडेट 14 किलोमीटर आगे के लक्ष्य के साथ आगे बढ़े। नौसेना एनसीसी के वरिष्ठ प्रशिक्षक पेटी ऑफिसर टी प्रकाश और प्रशिक्षक पेटी ऑफिसर चंदन राय ने नौकायन को हवा की गति के रूप में मुश्किल बताया, दिशा अनुरूप नहीं थी और नगण्य सतह करंट था। करीब 11 बजे तक गर्मी अपने चरम पर थी। गर्मी और पसीने के बावजूद एसडी और एसडब्लूए दोनों कैडेटों ने दोपहर तक बोट पुल्लिंग और सेलिंग से 24 किमी का कठिन रास्ता पूरा किया। स्थानीय चिकित्सा दल नियमित रूप से भाग लेने वाले कैडेटों के स्वास्थ्य की जांच कर रहे हैं। त्रिलोक ठाकुर रेस्क्यू बोट के चालक और नियंत्रक थे। भारतीय नौसेना के प्रशिक्षकगण किसी भी घटना या दुर्घटना से निपटने के लिए जलाशय में ही बचाव का अभ्यास कर रहे हैं।

अत्यधिक उत्साही और ऊर्जावान कैडेट और नौसेना एनसीसी यूनिट के कर्मचारियों को स्वादिष्ट दोपहर के भोजन के बाद और एक संक्षिप्त आराम अवधि फिर से वॉली बॉल और क्रिकेट (लड़की कैडेट) खेल में भाग लिए। रात्रि भोजनोपरांत कैम्प सीएचएम भूपेन्द्र सिंह चौहान ने कैडेट्स को पब्लिक स्पीकिंग में सुधार के टिप्स दिए। सभी कैडेटों ने फौज में में शामिल होने की इच्छा व्यक्त की। यह पूरा शिविर शहीद वीर नारायण सिंह कोडार जलाशय में जारी है।

---

Posted By: Nai Dunia News Network