महासमुंद। नईदुनिया न्यूज

गरियाबंद जिले का सुपेबेड़ा किडनी की बीमारी से प्रभावित लोगों की वजह से इन दिनों सुर्खियों में है। किडनी खराब होने से परेशान ग्रामीणों से मिलने का अनुरोध महासमुंद सांसद चुन्नीलाल साहू ने राज्यपाल से गत दिनों भेंटकर की थी। इस पर राज्यपाल अनुसुइया उईके ने वहां 22 अक्टूबर को जाने की घोषणा की। इसके बाद से छत्तीसगढ़ की राजनीति में बवाल मचा हुआ है। सियासी बयानबाजी सुपेबेड़ा पर गरमा गई है।

गौरतलब है कि राज्यपाल अनुसुईया उइके ने दो दिन पहले कहा था कि वह सुपेबेड़ा जरूर जाएंगी। सुपेबेड़ा के हालात बहुत नाजुक है। इस पर राज्य सरकार को गंभीर होना चाहिए। जवाबी बयान में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि वे सुपेबेड़ा को लेकर राज्यपाल के बयान से हतप्रभ हैं। राज्यपाल वहां जाएं, हम स्वागत करते हैं। वहां से लौटकर केंद्र सरकार को भी अवगत कराएं। सरकार भी जानना चाहती है कि सुपेबेड़ा में किडनी की बीमारी की वास्तविक वजह क्या है। उन्होंने उम्मीद जताई कि राज्यपाल के दौरे के बाद केंद्र सरकार भी इसमें विशेष पहल करें, जिससे आम आदमी को राहत मिल सके।

सांसद चुन्नीलाल की पहल

महासमुंद संसदीय क्षेत्र से निर्वाचित होते ही सांसद चुन्नीलाल साहू ने इस समस्या को गंभीरता से लिया। जुलाई-2019 में भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को पत्र लिखकर आदिवासी बाहुल्य देवभोग ब्लॉक के सुपेबेड़ा की समस्या से अवगत कराया था। इसके पहले छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को भी पत्र लिखकर इस गंभीर समस्या से निपटने और गरीबों की जान बचाने का आग्रह किया था।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को लिखे पत्र में सांसद साहू ने बताया कि गरियाबंद जिले के सुपेबेड़ा में किडनी की बीमारी से 70 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 300 किमी दूर और जिला मुख्यालय गरियाबंद से 150 किमी दूर देवभोग में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र है। जहां डायलेसिस की व्यवस्था करके जान बचाई जा सकती है।

बाक्स

राज्यपाल का दौरा कार्यक्रम

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके 22 अक्टूबर को गरियाबंद जिला अंतर्गत ग्राम सुपेबेड़ा के दौरे पर रहेंगी। प्रोटोकॉल से प्राप्त कार्यक्रम के अनुसार सुश्री उइके सुबह 10ः10 बजे पुलिस परेड ग्राउंड रायपुर से हेलीकॉप्टर से ग्राम सुपेबेड़ा के लिए प्रस्थान करेंगी। राज्यपाल उइके पूर्वान्ह 11ः10 बजे ग्राम पंचायत सुपेबेड़ा पहुंचकर 11ः30 बजे से दोपहर 12 बजे तक वहां के किडनी प्रभावित परिवारों से मिलेंगी। इसके बाद वे दोपहर 12 बजे जिला अधिकारियों की बैठक लेंगी। बैठक के बाद वे दोपहर 1ः30 बजे रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगी।

Posted By: Nai Dunia News Network