खरियार रोड। नईदुनिया न्यूज

स्थानीय वार्ड-18 मौसी मां मंदिर के सामने खाली पड़ी सरकारी भूमि पर सरकार ने बाउंड्रीवॉल बना दी है। जिसका विरोध में वार्ड क्रमांक 18 और तीन के रहवासियों ने किया। मोहल्ले वासी उक्त भूमि को मौहल्ले के सामाजिक, धार्मिक एव अन्य सार्वजनिक कार्य के लिए खुला छोड़ने की मांग कर रहे हैं। इस मुददे को लेकर रविवार सुबह युवा समाजिक कार्यकर्ता गोली तिवारी के नेतृत्व में एक आम बैठक रखी गई और बाउड्रीवॉल हटाने की मांग करते हुए प्रदर्शन किया गया। इस बैठक में नुआपाड़ा प्लानिंग बोर्ड के अध्यक्ष व विधायक राजेंद्र ढोलकिया, भाजपा के वरिष्ठ नेता चतुर्भुज शर्मा, प्रसन्न पाढ़ी, कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य हल्ला सिंग, सामाजिक कार्यकर्ता सुरेश आचार्य, विजय राज, अधिवक्ता रमेश अग्रवाल, मौसी मां मंदिर अध्यक्ष हरिबंधु मिश्रा, राजेश शर्मा, शंकर मदनकर, जोहन सलमा, सहित बड़ी संख्या में महिलाओ ने उपस्थित हो कर एक स्वर में इस खाली भूमि पर हो रहे बाउंड्रीवॉल का विरोध करते हुए इसे खुले मैदान के रूप में छोड़ने की मांग की। बताया गया कि मोहल्ले के सभी छोटे बड़े धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रम के लिये मौसी मां मंदिर के पास इस भूमिक का उपयोग किया जाता है। मोहल्ले के लोगों ने इस जमीन को मंदिर कमेटी को दिए जाने की मांग की। कहा गया कि वर्तमान समय में नगर पालिका परिषद सहित प्रदेश में विधायक व प्लानिंग बोर्ड के अध्यक्ष ढोलकिया की सरकार है यदि वे और उनकी सरकार जन भावनाओं की कद्र करेगी तो शीघ्र ही इस समस्या का समाधान हो सकता है। वही विधायक ढोलकिया ने अपने उद्बोधन में अपनी व नवीन पटनायक सरकार की उपलब्धि व नीतियों से उपस्थित लोगों को अवगत कराते हुए कहा कि सरकारी भूमि को सुरक्षित रखने के लिए बाउंड्रीवॉल किया जाना आवश्यक है एवं भविष्य में इस भूमि में सार्वजनिक उपयोग के लिए टाउन हॉल आदि का निर्माण किया गया तो भी बाउंड्री का होना जरूरी है। इसलिए इस कार्य के लिये मंजूर धन का उपयोग सभी के सहमति से किया जा रहा है। भूमि को सुरक्षित किया जाएगा। साथ ही विधायक ढोलकिया ने आश्वस्त किया कि सोमवार को जिलापाल से इस मामले पर चर्चा कर समस्या दूर करने का प्रयास करेंगे।

बॉक्स

बैठम में गरमाया माहौल

विधायक ने खाली पड़ी भूमि पर टाउन हॉल या कल्याण मंडप का निर्माण किए जाने और उसकी सुरक्षा के लिए बाउंड्री वाल के होने की मंशा जाहिर करते ही बैठक में कुछ समय के लिए माहौल गर्म हो गया था। मोहल्ले वालों ने तत्काल ही अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इस भूमि पर किसी तरह का निर्माण कार्य नहीं किया जाए और इसे खुला ही रखा जाना चाहिए। क्योंकि मोहल्ले में बच्चों के खेलने व भगवान जगन्नाथ के रथ यात्रा के दौरान दस दिन तक रथ रखने के लिए साथ ही रस गरबा महोत्सव आदि के लिए इसी भूमि का उपयोग किया जाता है।

Posted By: Nai Dunia News Network