महासमुंद(नईदुनिया प्रतिनिधि)।

जिला जेल में बंदियों के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद जेल प्रशासन ने यहां बंदियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए क्वारंटाइन सेंटर के साथ ही आइसोलेशन वार्ड का निर्माण कर दिया है। जेल के 10 में से चार बैरकों का उपयोग जेल में आने वाले नए बंदियों के लिए किया जा रहा है। जेल की सभाकक्ष को वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में कोविड कक्ष बनाया है, जिसे संक्रमित मरीजों के रखने के लिए सुरक्षित रखा गया है। आगामी दिनों में जेल में और भी कोई बंदी संक्रमित होता है तो उसे यहां रखा जाएगा। जेल प्रशासन के मुताबिक यहां कोविड टेस्ट कराकर आने वाले ऐसे बंदियों को सामान्य बैरक में भेजने से पूर्व क्वारंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है। उक्त बंदियों को 14 दिन बाद स्वास्थ्य जांच कराने के बाद सामान्य बैरक में रखा जाएगा।

बता दें कि वर्तमान में यहां 233 बंदी हैं, जिसमें से आए नए बंदियों को आइेसोलेशन और क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है। जेल में विगत दिनों में मिले चार संक्रमितों के संपर्क में आए 12 बंदियों को कोरोना टेस्ट के बाद जेल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। जेलर ने बताया कि फिलहाल बंदियों की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। एक-दो दिनों में संभवतः रिपोर्ट आ जाएगी। बंदियों की नियमित रूप से स्वास्थ्य जांच कराई जा रही है। सर्दी, खांसी और बुखार के लक्षण होने पर उन्हें अलग रखा जा रहा है।

सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए की गई व्यवस्था

जेलर रामशंकर सिंह ने बताया कि जेल में कोरोना संक्रमित मिलने के बाद बंदियों की सुरक्षा व्यवस्था की गई है। जेल के 10 बैरकों में से चार बैरकों को आईसोलेशन वार्ड और क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है। जेल में आने वाले सभी बंदियों को पहले कोविड टेस्ट कराने के बाद ही जेल में रखा जा रहा है।

----

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020