पिथौरा(नईदुनिया न्यूज)।

छत्तीसगढ़ राज्य योजना आयोग और यूनिसेफ के संयुक्त प्रयास से कोविड सेल के अंतर्गत शासन की योजनाओं एवं संचालित कार्यक्रमों की वास्तविक जानकारी के लिए सर्वेक्षण कार्य कराया गया। जिसमें कोविड-19 के दरमियान सुरक्षा सामाजिक वातावरण एवं सेहत पर पड़ने वाले दुष्प्रभाओं का आंकलन किया गया। राज्य के दो जिलों में यह सर्वेक्षण कार्य इंडस एक्शन ने राजनांदगांव जिले में एवं दिव्यांग मित्र मंडल पिथौरा महासमुंद जिले में किया गया। दिव्यांग मित्र मंडल के संयोजक बीजू पटनायक एवं सलाहकार डॉ. डीएन साहू के मार्गदर्शन में पिथौरा के शिक्षक हेमंत खुटे एवं सरायपाली विकासखंड के शिक्षक यशवंत चौधरी ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व मितानिनों के विशेष सहयोग से घर-घर जाकर उसे रूबरू होकर यह सर्वेक्षण कार्य पूरा किया है। सर्वेक्षणकर्ता हेमंत खुटे ने बताया कि उच्च जोखिम वाले समूह गर्भवती माता, किशोरी बालिका, शिशुवती महिलाओं के स्वास्थ्य सेवाओं के अंतर्गत मिलने वाली सरकारी सुविधा, उनकी स्थिति, पोषण आहार के बारे वर्तमान स्थिति की जानकारी ली। किशोरी अवस्था में लड़कियों की सामाजिक, मानसिक स्थिति का आंकलन कर उनके मौलिक अधिकारों की बिंदुवार जानकारी विशेष रूप से यौन शोषण एवं हिंसा आदि के बारे में वर्तमान स्थिति का मूल्यांकन किया गया है। सरकारी योजना मनरेगा, रोजगार पीडीएस राशन, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, बुजुर्ग, विधवा, दिव्यांग व्यक्तियों के मामले में भी प्राथमिकता के साथ सर्वे कर उनकी मूल समस्याओं को रेखांकित कर समाधान के लिए सर्वे रिपोर्ट भेजी गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local