महासमुंद। कोरोना से जंग जीतने के लिए जिले के तीन टीकाकरण केन्द्रों में 16 जनवरी को सुबह नौ बजे वृहद टीकाकरण अभियान प्रारंभ होगा। जिसमें पहले दिन तीन सौ लोगों को टीका लगाए जाने का लक्ष्‌य रखा गया है। कोविड शील्ड की 5490 वैक्सीन की पहली खेप बुधवार देर शाम जिला स्तरीय कोल्ड स्टोरेज पहुंच गई, जहां इसे दो से आठ डिग्री तापमान में सुरक्षित रखा गया है। प्रथम चरण में जिला अस्पताल महासमुंद सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सरायपाली और पिथौरा में टीकाकरण का शुभारंभ होगा।

जिले में कोविड-19 टीकाकरण की तैयारियां पूरी कर ली गई है। 16 जनवरी से प्रारंभ होने वाले वृहद टीकाकरण से पूर्व ड्राई रन पूरा कर लिया गया है, जहां जो कमी थी उसे भी दूर कर लिया गया है। साथ ही अभियान से जुड़े कर्मचारियों को प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है। जिले में बुधवार देर शाम सिरम इंस्टीट्यूट की तरफ से भेजे गए कोरोना वैक्सीन कोविड शील्ड की पहली खेप जिला स्तरीय कोल्ड स्टोरेज पहुंच गई। जहां इसे सुरक्षित रखा गया है।

बता दें कि जिले में 23 कोल्ड चेन बनाए गए हैं और सभी कोल्ड चेन वैक्सीन स्टोर के लिए पूरी तरह तैयार है। जिले में टीकाकरण के लिए 33 केंद्र भी बनाए गए हैं। हालांकि प्रथम चरण में जिला अस्पताल महासमुंद, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सरायपाली और पिथौरा से टीकाकरण की शुरुआत होगी जिसके लिए इन केन्द्रों में वैक्सीन शुक्रवार तक पहुंचा दी जाएगी। पहले स्वास्थ्यकर्मी, मितानिन और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को टीका लगेगा, जिनकी संख्या लगभग 8977 है। धीरे-धीरे टीकाकरण अभियान का पूरे जिले में विस्तार किया जाएगा। जानकारी के अनुसार महासमुंद शहर में छह केंद्र महासमुंद ग्रामीण में पांच केंद्र, बागबाहरा विकासखंड में छह, पिथौरा विकासखंड में छह, बसना विकासखंड में पांच और सराईपाली विकासखंड में पांच केंद्र बनाए गए हैं।

10 हजार की मांग मिले 5490 डोज

सहायक टीकाकरण अधिकारी डा मुकुंदराव ने बताया कि प्रथम चरण में टीकाकरण के लिए 8977 लोगों का पंजीयन किया गया था जिसके लिए 10 हजार वैक्सीन की डोज की मांग की गई थी। इसमें पहली खेप में 5490 डोज ही मिला है जिसके बाद फिर से प्राथमिकता के आधार पर सूची बनाई जा रही है। पहले दिन तीनों केंद्रों में लगभग तीन सौ लोगों को टीका लगाए जाने का लक्ष्‌य देकर चल रहे हैं।

जिले में 96 फीसद हुई रिकवरी रेट

बुधवार को जिले में 26 नए कोरोना संक्रमित पाए गए। जिसमें महासमुंद से 12, बागबाहरा से आठ, पिथौरा से तीन, बसना से एक और सरायपाली से कुल चार संक्रमित पाए गए । जिले में बुधवार तक 8850 संक्रमित हो चुके हैं जिनमें से 8498 स्वस्थ भी हो गए हैं। अब मात्र 241 लोगों का ही इलाज जारी है। वहीं 129 लोगों की मौत भी हो चुकी है। इधर, रिकवरी रेट में भी लगातार सुधार हो रहा है। बुधवार तक रिकवरी रेट 96 प्रतिशत हो गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस