पेंड्रा( नईदुनिया न्यूज)। कलेक्टर डोमन सिंह ने शनिवार को कलेक्टोरेट परिसर के अरपा सभाकक्ष में धान खरीदी की तैयारियों सहित विभिन्ना महत्वपूर्ण बिंदुओं पर बैठक ली। उन्होंने धान खरीदी तैयारियों का जायजा लेते हुए दिशा निर्देश दिए है।

बैठक में उन्होंने किसान पंजीयन, चबूतरा निर्माण प्रगति, 4 नए केंद्रों में चबूतरा की स्थिति, उपार्जन केंद्र एवं संग्रहण केंद्रों में आवश्यक व्यवस्था, नाका बैरियर का निर्माण एवं वहां की ड्यूटी व्यवस्था, पीडीएस बारदाना कलेक्शन, मिलर से बारदाना कलेक्शन, नवीन बारदाना प्राप्त होने की जानकारी, विभिन्नी टेंडर स्वीकृत की स्थिति, कोचिया-बिचौलिया पर निगरानी हेतु कार्य योजना, विगत वर्ष की गई कार्रवाई की समीक्षा एवं उन व्यक्तियों पर निगरानी एवं अन्य धान खरीदी से संबंधित विषयों पर विस्तार से चर्चा की गई। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कांटेक्ट ट्रेसिंग, होम आइसोलेशन, आरटीसीपीआर, ट्रूनाट लैब इत्यादि के कार्यों को उचित तरीके से करने के निर्देश दिए हैं । इसके साथ ही बैठक में मतदाता सूची अपडेशन के कार्य की प्रगति पर समीक्षा की गई और पैरा दान की तैयारी,गोधन न्याय योजना पर अब तक किए गए कार्यों सहित वर्तमान स्थिति की जानकारी ली।

उन्होंने सभी धान खरीदी केन्द्रों के लिए स्थल का चयन एवं साफ सफाई,फेंसिंग की व्यवस्था,विद्युत-जनरेटर,कंप्यूटर सेट, प्रिंटर, इंटरनेट कनेक्शन, बारदानों की व्यवस्था,आर्द्रतामापी,उपार्जन केंद्रों में तौल बाट की व्यवस्था एवं उनका सत्यापन, तारपोलिन की व्यवस्था,पीने की पानी की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। जिला खाद्य अधिकारी श्री मिश्रा ने बताया की इस खरीफ फसल वर्ष में 14771 किसानों ने अपना पंजीयन कराया है, जिसमें से 2968 किसान नवीन पंजीयक है। पीडीएस बारदाने शत प्रतिशत एकत्रित करने के लिए खाद्य निरीक्षकों को निर्देशित किया गया है जो उचित मूल्य दुकानदार पीडीएस बारदाना जमा नहीं करते हैं उन्हें नियमानुसार दंडित करने अथवा बारदाना जमा कराने हेतु निर्देशित किया गया है।

4 नए उपार्जन केंद्र सहित कुल 16 उपार्जन केंद्रों में होंगी धान खरीदी

राज्य शासन ने धान खरीदी केंद्रों के सुविधा का विस्तार करते हुए गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले के लिए 4 नए उपार्जन केंद्रों को प्रारंभ किया है। जिले में 4 नए उपार्जन केंद्रों में धनौली,बस्ती, तेंदूमुड़ा,तराईगांव चार केंद्रों में नवीन धान खरीदी केंद्र बनाए गए हैं। इस प्रकार अब जिले में कुल उपार्जन केंद्रों की संख्या 12 से बढ़कर 16 हो गयी है। जिससे किसानों को अब धान बेचने के लिए दूर जाना नही पड़ेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस