मुंगेली(नईदुनिया न्यूज)। कलेक्टर अजीत वसंत ने कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभा कक्ष में साप्ताहिक समय सीमा की बैठक ली। उन्होंने जिले में 15 से 49 वर्ष आयु समूह के हीमोग्लोबिन की कमी वाले एनीमिक पीड़ित महिलाओं को सुपोषित किया जाएगा।

उन्होंने प्रथम चरण में एटीआर क्षेत्र के 27 ग्राम पंचायतों में हीमोग्लोबिन की कमी वाले एनीमिक पीड़िताओं की पहचान के लिए स्वास्थ्य एवं महिला एवं बाल विकास के अधिकारियों को सर्वे करने की निर्देश दिए। जिले में फेंसिग और पानी की सुविधा वाले गोठानों के बारे में जानकारी प्राप्त की और फेंसिग एवं पानी की सुविधा वाले गोठानों में बाड़ी विकास का कार्य शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देंश दिए ताकि स्वसहायता समूह की महिलाएं बाड़ी विकास कार्य से जुड़कर आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बन सके। तहसीलवार अविवादित नामांतरण के लंबित प्रकरणों की जानकारी प्राप्त की और अविवादित नामांतरण के प्रकरणों को प्राथमिकता से निराकृत करने के निर्देंश दिए। अतिक्रमण व्यवस्थापन के संबंध में जानकारी प्राप्त की और आवश्यक निर्देंश दिए।

सरकारी जमीन को अतिक्रमण मुक्त कर गोठान बनाएं : राज्य शासन की महत्वाकांक्षी नरवा, गरुवा, घुरुवा, बाड़ी योजना के तहत पशुधन के लिए स्थापित गोठान और चिन्हांकित गोठानों की भूमि में अतिक्रमण के संबंध में जानकारी प्राप्त की और अतिक्रमण से मुक्त गोठानों में निर्माण कार्य प्रारंभ करने के निर्देंश दिए। इसी तरह गोठानों में गोबर खरीदी और महिला स्वसहायता समूह को की गई भुगतान राशि के बारे में जानकारी प्राप्त की और लंबित राशि का भुगतान करने के निर्देंश दिए। मौसमी बीमारियों के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना की समीक्षा की और चिन्हांकित हाट बाजारों में क्लीनिक संचालित करने के निर्देंश दिए। ताकि हाट बाजारों में पहुंचने वाले जरूरतमंद लोग अपना इलाज निश्शुल्क करा सके। मत्स्य पालन विभाग की समीक्षा की और निस्तारी तालाबों को छोड़कर अन्य शेष तालाबों को पट्टे पर देने के निर्देंश दिए। इस अवसर पर एसपी डीआर आचला, जिपं सीईओ रोहित व्यास, डीएफओ रामअवतार दुबे, अपर कलेक्टर राजेश नशीने, संयुक्त कलेक्टर तीर्थराज अग्रवाल, सभी अनुभाग के एसडीएम और विभिन्ना विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

जाति प्रमाण पत्र की ली जानकारी

कलेक्टर वसंत ने अजजजा और अन्य पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों को जारी जाति प्रमाण पत्र की प्रगति की जानकारी प्राप्त की और प्राप्त लक्ष्य के अनुरूप अविलंब जाति प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देंश दिए। एकीकृत बाल संरक्षण योजना के अंतर्गत किशोर न्याय बालकों की देख रेख एवं संरक्षण अधिनियम के तहत संचालित बाल देखरेख संस्था बालगृह में निवासरत बधाों को जारी जाति प्रमाण पत्र के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की और जांच उपरांत बधाों को जाति प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देंश दिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags