मुंगेली(नईदुनिया न्यूज)। छत्तीसगढ़ प्रदेश में अनुसूचित जाति वर्ग को 16 प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा गया।

ज्ञापन में बताया कि कंग्रेस पार्टी द्वारा चुनावी घोषणा पत्र 2018 में 16 प्रतिशत आरक्षण देने की घोषणा कर सत्ता में आई थी। चार वर्ष बीत जाने के बाद भी 16 प्रतिशत आरक्षण से वंचित है। उमांग को लेकर डिप्टी कलेक्टर नवीन भगत को सौंपा गया। इससे पूर्व जिला भाजपा कार्यालय के सामने प्रदेश सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर भाजपा के जिला अध्यक्ष शैलेश पाठक,अनुसूचित जाति मोर्चा जिलाध्यक्ष डा. शिव कुमार बंजारा, मानसिंह मोहले, मानिकलाल सोनवानी, तरुण खांडेकर, शिवप्रताप सिंह,कोटूमल दादवानी, प्रदीप पांडेय, कलीम बागड़ी, प्रवीण सोनी,मनोहर मोहले, टीशन बांधड़े, उमाशंकर बघ्ोल अन्य लोग उपस्थित रहे।

गौरेला में संयुक्त कलेक्टर को सौंप ज्ञापन

मरवाही। अनुसूचित जाति वर्ग को सोलह प्रतिशत आरक्षण बहाल करने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा गया। उत्कर्ष सतनामी समाज कल्याण समिति के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन संयुक्त कलेक्टर आनंद रूप तिवारी को सौंपकर छत्तीसगढ़ राज्य में अनुसूचित जाति वर्ग को 16 प्रतिशत आरक्षण बहाल करने की मांग की। जिला सचिव प्रीतम कोशले ने बताया है कि प्रदेश में अनुसूचित जाति वर्ग प्रदेश की कुल आबादी के एक बड़े भाग का प्रतिनिधित्व करता है।पिछले कैबिनेट की बैठक में आरक्षण 13 प्रतिशत किए जाने से समाज असंतुष्ट है। आरक्षण का कोटा 16 प्रतिशत कर राजपत्र में प्रकाशित करने की मांग की गई। नौंवी अनुसूची के शामिल किए जाने का प्रस्ताव पास करने की मांग की। प्रतिनिधि मंडल में अध्यक्ष पुरषोत्तम लहरे, पीए टंडन,कन्हैयालाल धृतलहरे,गजेंद्र रात्रे,सीमा टंडन,त्रिभुवन गोयल शामिल रहे।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close