कर्रा। नईदुनिया न्यूज

मेलनाडीह कर्रा हल्का नम्बर 41 के पटवारी के खिलाफ गलत प्रतिवेदन तथा कूटरचित नक्शे बनाए जाने की शिकायत पर मंगलवार को पांच सदस्यीय दल के सदस्यों ने मौके पर जाकर पड़ताल किया। इसमें जांचकर्ताओं ने प्रार्थी की शिकायत को सही पाया।

उल्लेखनीय है कि ग्राम मेलनाडीह कर्रा हल्का नंबर 41 के पटवारी भानु चंद्राकर के द्वारा किए गए भूस्वामी के मुआवजे प्रकरण में कूटरचित नक्शा व गलत प्रतिवेदन जमा करने की शिकायत प्रार्थी महेश सिंह,कार्तिक सिंह तथा शशि सिंह द्वारा कलेक्टर से कर कार्रवाई की मांग की थी, जिस पर कोटा एसडीएम के निर्देश पर रतनपुर नायब तहसीलदार सुनील अग्रवाल के निर्देश पर पांच सदस्यीय जांच टीम पहुंची, इसमें राजस्व निरीक्षक अशोक सोनी तथा सुनील कश्यप तीन पटवारी क्रमशः चंद्र प्रकाश कश्यप पुडू, रामचंद तंबोली चपोरा तथा चंद्रिका कश्यप रानीगांव शामिल थे।

उल्लेखनीय है सेंदरी बिलासपुर से कटघोरा तक बन रहे फोर लेन सड़क निर्माण में प्रार्थी महेश सिंह,कार्तिक सिंह की लगभग दस डिसमिल जमीन मकान सहित शासन ने अधिग्रहित कर उनके नाम से 26 लाख रुपए का मुआवजा बनाकर भेजा था, जिस पर पटवारी भानु चंद्राकर ने उक्त मुआवजे प्रकरण में कूटरचित दस्तावेज नक्शा,व गलत प्रतिवेदन बनाकर प्रार्थी के मुआवजा राशि को अन्य दूसरे व्यक्ति से सांठ गांठ कर उसे मुआवजे की राशि दिलाने की कोशिश में लगा हुआ था।

प्रार्थी की जमीन पर दूसरे का मकान बनना बताया

पटवारी भानु चंद्राकर ने मुआवजा प्रकरण के प्रतिवेदन में प्रार्थी महेश सिंह कार्तिक सिंह की जमीन खसरा नंबर 61/4 पर किसी दूसरे का मकान बना हुआ बताया था,जिस पर जांच टीम ने पाया कि उक्त भूमि पर भूमि स्वामी महेश व कार्तिक का ही मकान बना पाया, दोपहर एक बजे से पांच बजे तक चली जांच पड़ताल में जांच टीम ने मौके पर पूरी जमीन की नाप जोख कर ग्रामवासियों से उक्त जमीन संबंधी जानकारी एकत्र कर पंचनामा बनाया। जिस पर मौके में उपस्थित लोगों ने अपनी सहमति जताते हुए पंचनामे में हस्ताक्षर किया,

मूल नक्शे में भी हेराफेरी

फरवरी 2019 में जारी सर्टिफाइड नक्शे को नहीं मानकर पटवारी भानु ने मूल नक्शे में कूटरचित कर फर्जी नक्शा व गलत प्रतिवेदन बनाकर किसी अन्य व्यक्ति को मुआवजा लाभ दिलाने के लिए प्रकरण में जमा कर दिया था,इसकी जानकारी मिलने पर प्रार्थी ने कलेक्टर सहित विभागीय मंत्री से शिकायत कर जांच की मांग की थी।

उधााधिकारियों के निर्देश पर ग्राम मेलनाडीह, कर्रा में शिकायत जांच पर गए थे,जहां पर मौके में प्रार्थी की जमीन61/4 पर उसका क्षतिग्रस्त मकान बना पाया गया।

- अशोक सोनी,राजस्व निरीक्षक, रतनपुर