कंचनपुर। नईदुनिया न्यूज

ग्राम पंचायत सोनपुरी के वन क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों को पांच माह के बाद भी विभाग से भुगतान नहीं होने से उन्हें भटकना पड़ रहा है। उन्होंने इसकी जानकारी अधिकारियों को देकर समस्या की निराकरण की गुहार लगाई है इसके बाद उनकी समस्या दूर नहीं हो रही है।

कोटा जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत सोनपुरी में पौधारोपण का कार्य किया गया। इसमें पांच माह पूर्व मजदूरों से जंगल में गड्ढे की खोदाई, ठूंठ कटिंग, मिश्रित पौधा रोपण का कार्य कराया गया था। लेकिन पांच माह गुजर जाने के बाद भी वन विभाग के द्वारा इनकी मजदूरी राशि का भुगतान नहीं किया गया है। बड़ी संख्या में मजदूरी अपनी ही बकाया राशि लेने के लिए विभाग का च-र काटने को मजबूर हो रहे हैं। अधिकारियों से शिकायत करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है ऐसे में मजदूर कर्ज से लदकर उधार में घर चला रहे हैं। इससे उनकी आर्थिक स्थिति दिनोंदिन खराब होती जा रही है।

कक्ष क्रमांक 1065 में लगाए गए पौधे

बिलासपुर वनमंडल के अंतर्गत ग्राम पंचायत सोनपुरी में जून जुलाई 2019 में छत्तीसगढ़ शासन वन विभाग के द्वारा सोनपुरी के कक्ष क्रमांक 1065 में वनरक्षक बैजनाथ साहू व सावन यादव के द्वारा मिश्रित पौधारोपण का कार्य प्रारंभ कराया गया था। कार्य प्रारंभ होते ही कुछ समय के लिए ग्रामीण बेरोजगारी की चिंता से मुक्त होकर नियमित रोजगार मिलने की आस से कार्य में लग गए थे। इसमें जून और जुलाई माह में गड्ढे की खोदाई, ठूंठ कटिंग व मिश्रित पौधारोपण का कार्य मजदूरों से कराया गया था। लेकिन पांच माह का समय बीत जाने के बाद भी मजदूरी भुगतान की राशि आजपर्यंत वनमंडल के अधिकारी द्वारा नहीं दिया गया। परेशान मजदूर अपनी आर्थिक स्थिति से परेशान होकर लिखित में आवेदन के साथ मजदूरी भुगतान करने के फरियाद की फिर भी मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया। ग्रामीणों ने बताया कि रोजी मजदूरी ही एक ही मात्र आय का जरिया है। इससे वे अपने और अपने परिवार का भरण पोषण बड़ी मुश्किल से कर रहे हैं। परेशान मजदूरों ने बताया कि ऐसे में यदि किसी भी मजदूरों को पांच माह बीत जाने के बाद भी यदि पसीना बहाकर मेहनत से कमाई हुई मजदूरी राशि नहीं मिल पा रही है, तो जाहिर है ग्रामीणों की माली हालत दिन-ब-दिन बिगड़ती जाएगी। ऐसे में मजदूर दुकानदारों और साहूकारों से घर चलाने के लिए राशन सामग्री व उधारी रकम लेकर कर्ज के बोझ में दबते जा रहे हैं। वनरक्षक बैजनाथ साहू ने बताया कि सोनपुरी में मिश्रित पौधरोपण का कार्य किया गया है। मजदूरों के लिए भुगतान का लिस्ट बनाकर डिवीजन आफिस में जमा कर दिया गया है। भुगतान दिलाने वनमंडल आधिकारी को आवेदन करने के बाद भी आजपर्यंत समस्या का निराकरण नहीं हुआ है।

100 से अधिक मजदूर हलाकान

इस संबंध में मजदूर मनमोहन सिंह,तीजराम,परदेशी राम ने बताया कि 100 से अधिक मजदूर वन विभाग में मिश्रित पौधारोपण का कार्य किए हैं। काम पूरा होने के बाद जब मजदूरों ने वनरक्षक बैजनाथ साहू,सावन यादव व डिप्टी रेंजर से मजदूरी की राशि की मांग की तो कहा गया कि राशि का भुगतान सभी मजदूरों के खाते में होगा। जब मजदूरों के खाते में उनकी मजदूरी की राशि नही पहुचीं तो तो वे फिर वनरक्षक और डिप्टी रेंजर से इस संबंध में शिकायत करने पहुंचे लेकिन हर बार कि तरह जल्द ही मजदूरी मिल जाएगी इस तरह का आश्वासन दिया गया।

सभी मजदूर परेशान

मजदूर मानमती बाई ने बताया कि वन विभाग द्वारा मिश्रित पौधारोपण कार्य में काम की हूं। इसका भुगतान दिलाने वनमंडल आधिकारी को आवेदन करने के बाद भी आज तक समस्या का निराकरण नहीं हुआ है। सभी लोग परेशान हैं।

डिवीजन से मजदूरों का पैसा नहीं आया है। इसलिए भुगतान नही हो पाया है। राशि आते ही भुगतान कर दिया जाएगा।

- विजय साहू ,रेंजर, बेलगहना

Posted By: Nai Dunia News Network