पेंड्रा। पेंड्रा में मनरेगा महासंघ की अनिश्चित कालीन हड़ताल लगातार 55 वें दिन भी लगातार जारी है। शनिवार को आंदोलनकारियों ने भूपेश बघेल की सरकार के चुनाव में किए गए नियमितीकरण के वादे को याद दिलाने के लिए वादा निभाओ रैली निकाली गई।

रैली के उपरांत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को ज्ञापन सौपा गया है। उन्होंने उन्हें सौंपे ज्ञापन में बताया कि भूपेश बघेल की सरकार द्वारा किए गए वादे को प्रशासन की ओर से याद दिलाकर मनरेगा कर्मियों की व्यथा को उन तक पहुंचाए। वादा निभाओ रैली में मनरेगा कर्मियों के साथ उनके परिवार और छोटे-छोटे बच्चे सहित ग्रामीण समर्थन देने पहुंचे थे। उनकी मुख्य मांग नियमितीकरण, और प्रक्रिया के पूर्ण होने तक सन 1966 पंचायत सचिव नियमावली के साथ रोजगार सहायकों के ग्रेड पे निर्धारण करना है। इस संबंध में संगठन के जिला अध्यक्ष सौरभ साहू ने सरकार पर आरोप लगते हुए कहा 55 दिन हो जाने के बाद भी शासन द्वारा उन्हें नजर अंदाज किया जा रहा है, जबकि सरकार अपने आपको संवेदनशील सरकार होने का दावा कर रही है । मंच से जिला के संरक्षक रोशन सराफ ने कहा छह मई को कमेटी भी गठित की गई है, परंतु 22 दिन बाद भी किसी प्रकार की बैठक नहीं की गई है। यह कमेटी कमेटी का खेल कब तक चलेगा। इसका दुष्परिणाम गांव की जनता को भुगतना पड़ रहा है। महासंघ के जिला उपाध्यक्ष प्रवीण कौशिक ने कहा प्रशासन द्वारा शासन के आदेश को दिखाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था तो की गई है, और दिखावे के लिए प्रतिदिन मस्टर रोल निकाले जा रहे हंै, परंतु एमआईएस के दौरान सिर्फ पांच प्रतिशत ही मजदूरों का भुगतान किया जा रहा है। मनरेगा योजना के किसी भी इंडीकेटर को पूरा नही किया जा रहा है। समयबद्ध भुगतान जो 15 दिन में मजदूर के खाते की जानी चाहिए वो आज 87 प्रतिशत ही है, और पेंड्रा जनपद तो मात्र 57 प्रतिशत ही समय पर भुगतान कर रहा है। आज की स्थिति में इस जिले में कुल एक लाख उनसठ हजार मानव दिवस सृजित किया गया है जो कि दस प्रतिशत से भी कम है।

इससे मजदूरों को मिलने वाले मानव दिवस में कमी हो रही है। शासन को जल्दी ही इस हड़ताल की सुध लेकर जनता के हो रहे नुकसान के बारे में सोचना होगा क्योंकि मानसून प्रारंभ होने के बाद मनरेगा कार्य बंद हो जाएगा। अंत में महा संघ के जिला सचिव विजेंद्रनाथ दिवाकर ने मनरेगा कर्मियों के परिजनों का आंदोलन में शामिल होने के लिए आभार ज्ञापित किया। उन्होंने कहा जब तक सरकार अपने घोषणा पत्र में नियमितीकरण के वादे को पूरा नहीं करती तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close