सीपत(नईदुनिया न्यूज)। शारदीय नवरात्र पर ग्रामीण अंचल में पूजा उत्सव की धूम है। जगह-जगह देवी मंदिरों में माता की सेवा की जा रही है। सभी देवी मंदिरों में अखंड ज्योति कलश, मनोकामना कलश प्रज्वलित की गई है। सुबह से शाम तक दरबार सजा रहा है।

कोविड-19 के संक्रमण काल के दो साल बाद गांव- गांव की देवी मंदिर , पाठ बाबा , माता चौरा और परंपरागत रूप से चौक-चौराहे में दुर्गा पूजा समितियों के द्वारा पूजा उत्सव का आयोजन किया जा रहा है। गांव नगर में पर्व पर श्रद्धालु भक्ति भाव में डूबे हुए है। पूजा पंडालों व देवी मंदिरों में देर रात तक श्रद्धालु भजन कीर्तन मां की जगराता से सेवा कर रहे हैं। देवी मंदिर में कोई जमीन पर लेटकर तो कोई नंगे पैर चलकर पहुंच रहे हैं और अपनी मनोकामना मां के दरबार में जाकर प्रकट कर रहे है। मंदिरों के अलावा घरों में भी ज्योत जवारा बोए हुए है । क्षेत्र के उच्चभट्ठी की शिवशक्तिदाई मंदिर में 700 ज्योतिकलश धनिया स्थित मनकेश्वरी देवी मंदिर में 122 ज्योतिकलश सीपत के मातेश्वरी मंदिर में 102 ज्योति कलश सीपत के दक्षिणेश्वरी काली मंदिर सिद्धेश्वरी देवी मंदिर व सोंठी में नवनिर्मित मन्ना दाई मंदिर में भी ज्योतिकलश प्रज्वलित की गई है। ग्रामीण क्षेत्रो में विधिवत पूजा अर्चना कर श्रद्धालु भक्ति भाव मे लीन है। कई जगह दूर दराज से जगराता मंडली पूजा पंडालों में आकर आकर्षक प्रस्तुति देकर अपनी कला का प्रदर्शन कर रही हैं।

नवरात्र में चैतन्य देवियों की सजाई गई झांकी

मरवाही क्षेत्र में स्थित प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय बरगवां द्वारा बरहो माता मंदिर में चैतन्य देवियों की झांकी सजाई गई है। जो श्रद्धालुओं के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। झांकी की पूजा सेवानिवृत्त प्राचार्य प्रकाश राय ने किया। इस अवसर पर शिक्षा संकुल प्रभारी दिनेश अग्रवाल, मंदिर के पुजारी एवं सरपंच उपस्थित रहे। सिरगिट्टी निवासी बीके कांता बहन ने कहा कि चैतन्य देवियां नवरात्र के अवसर पर सजाई गई हैं यह साधारण कन्याएं नहीं है यह बाल ब्रह्मचारिणी हंै ।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close