Mungeli News: मुंगेली(नईदुनिया न्यूज)। नगर पालिका में अल्पमत में आ चुकी भारतीय जनता पार्टी के उपाध्यक्ष मोहन मल्लाह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव कांग्रेस के पार्षदों द्वारा लाया गया है। इसकी प्रक्रिया 24 जनवरी 11 बजे से नगर पालिका परिषद स्थित सभाग्रह में किया जायेगा। मुंगेली नगरपालिका के लिए हुए विगत चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी से 12 पार्षद चुनकर आए थे जबकि कांग्रेस के दस पार्षद चुनाव में विजयी हुए थे।

मुंगेली नगर पालिका में कुल 22 वार्ड हैं। इस चुनाव के बाद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों ही पदों के लिए भाजपा के प्रत्याशियों की जीत हुई थी। अध्यक्ष पद के लिए संतूलाल सोनकर और उपाध्यक्ष पद के लिए मोहन मल्लाह चुनाव में विजयी घोषित किए गए थे। लेकिन बाद में आर्थिक अनियमितता के आरोप में भाजपा के नगर पालिका अध्यक्ष संतूलाल सोनकर जेल जाने के कारण पद से बर्खास्त कर दिए गए। इसके बाद हुए अध्यक्ष के चुनाव में भाजपा पार्षदों की क्रास वोटिंग के कारण कांग्रेस के हेमेंद्र गोस्वामी चुनाव जीतने में सफल हुए थे। तब आश्चर्य की बात यह है कि भाजपा के 12 और कांग्रेस के 10 वोट होने के बावजूद कांग्रेस के हेमेंद्र गोस्वामी 16 वोट पाकर चुनाव जीत गए थे। इस क्रास वोटिंग से भाजपा की बहुत किरकिरी हुई थी। भाजपा के पार्षदों की ओर से खुलकर क्रास वोटिंग की गई थी।

कांग्रेस के नगरपालिका अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस पार्षदों ने उपाध्यक्ष पद पर मौजूद भाजपा के मोहन मल्लाह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव रखा है। जिस पर 24 जनवरी को मतदान होना है। अब 24 जनवरी को अपना उपाध्यक्ष पद भाजपा को बचाना बड़ी चुनौती होगी। साथ ही भाजपा के तीन पार्षद अभ्ाी हाल ही में कांग्रेस प्रवेश कर चुके है। कांग्रेस की ओर से उपाध्यक्ष पद के लिए चार से पांच दावेदार है। जिनमें चार बार से लगातार जीत दर्ज करते आ रहे कांग्रेस के पार्षद अरविंद वैष्णव, वही पार्षद संजय सिंह ठाकुर,पार्षद मनुराज सोनी रोहित शुक्ला ने दावेदारी प्रस्तुत की है जिस पर आखरी मुहर सुुबह, मतदान प्रक्रिया से पहले लगाई जाएगी । देखना होगा की अब नगर पालिका उपाध्यक्ष पद को भाजपा अपना कब्जा बरकरार रख पाती है की नहीं ।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close