मुंगेली(नईदुनिया न्यूज)। नगर पालिका उपाध्यक्ष मोहन मल्लाह के खिलाफ कांग्रेस पार्षदों द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव गिर गया। भाजपा के एक पार्षद ने फिर क्रास वोट दिया। भाजपा के जिला अध्यक्ष ने कहा संदेह पुष्टि पर पार्टी से निष्काषित करने की अनुशंसा की जाएगी। परिणाम आने के बाद भाजपा ने विजय जुलूस निकाला ।

भाजपा के नगर पालिका उपाध्यक्ष मोहन मल्लाह के खिलाफ कांग्रेस द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव ध्वस्त हो गया है। सोमवार को नगर पालिका पार्षदों के सम्मिलन में सभी 22 पार्षद उपस्थित रहे। संयुक्त कलेक्टर व पीठासीन अधिकारी भरोसाराम ठाकुर ने पार्षदों की उपस्थिति दर्ज कराकर कार्यवाही प्रारंभ की। सर्वप्रथम उपस्थित पार्षदों से अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष विपक्ष में चर्चा की, इसके बाद उपाध्यक्ष मोहन मल्लाह ने अपना पक्ष रखा। इसके बाद निर्वाचन प्रक्रिया की जानकारी देकर मतदान कराया गया। नगर पालिका नियमों के तहत अविश्वास प्रस्ताव पारित करने के लिए 15 मत की आवश्यकता थी लेकिन मिले केवल 14 मत। वहीं मोहन मल्लाह को उपाध्यक्ष बनाए रखने के लिए सात मत मिले एक मत को किसी मतदाता द्वारा मोहन मल्लाह के नाम पर निशान अंकित करने के कारण अवैध घोषित कर दिया गया। जबकि भाजपा पार्षदों ने मत देने वाले मतदाता का मन्तव्य स्पष्ट रूप से मोहन मल्लाह के पक्ष में होने का हवाला देते हुए उसे प्रस्ताव के विरोध में गिनने की मांग की। इसके बावजूद मत को अवैध घोषित कर दिया गया फिर भी उपाध्यक्ष की कुर्सी बरकरार रही। इसके बाद भाजपा ने नगर में विजय जुलूस निकाला व अटल परिसर जिला भाजपा कार्यालय पहुंचे। इस चुनाव में प्रभारी के रूप में उपस्थित प्रदेश भाजपा महामंत्री विजय शर्मा,विधायक पुन्न्ूलाल मोहले,भाजपा के जिला अध्यक्ष शैलेश पाठक,गिरीश शुक्ला,राणाप्रताप सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं व पार्षदों को संबोधित करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया। नगर पालिका कार्यालय में गहमा गहमी का माहौल छाया रहा। ये रहे उपस्थित

इस अवसर परशिवप्रताप सिंह,प्रेम आर्य,मानसिंह मोहले,किशोरीलाल केशरवानी,तरुण खांडेकर, संजय वर्मा, आशीष मिश्रा, सुनील पाठक,समीर आहिरे,प्रदीप पांडेय, कोटूमल दादवानी,शंकर सिंह,जयप्रकाश मिश्रा,मुकेश रोहरा,रामशरण यादव,राजू सोनी,आलोक गुप्ता, अमितेष आर्य,विनोद यादव, पार्षद संतुलाल सोनकर सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

एक पार्षद को करेंगे निष्काषित: पाठक

नगर पालिका परिषद में भाजपा के प्रारंभ में कुल 12 पार्षद थे इनमें से तीन पार्षद भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गए थे। ऐसे में 22 में से 9 भाजपा के तथा शेष 13 पार्षद कांग्रेस के थे। इस तरह भाजपा एक पार्षद ने अविश्वास प्रस्ताव अर्थात कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया। इस पर जिला भाजपा अध्यक्ष शैलेश पाठक ने कहा कि संदेह पुष्ट व पुख्ता होने पर उसको पार्टी से निकालने की अनुशंसा की जाएगी।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close