गौरेला (नईदुनिया न्यूज)। जिले में धारा 144 के बाद लॉक डाउन के बाद पुलिस सख्ती बरत रही है परिणाम स्वरूप लोग घरों से निकलने से बच रही है। जिले की सीमाओं को पूर्णतः सील कर दिया गया है। यही नहीं धारा 188 के मामले में एक के खिलाफ कार्रवाई की गई। वहीं वाहन चालकों के 25 वाहनों को जब्त किया गया।

जिले में अंतरराज्यीय सीमा में पूर्व से ही पांच बैरियर स्थापित किए गए हैं। लॉक डाउन के मद्देनजर कोरबा जिले की सीमा पर मातीनदाई और बिलासपुर जिले की सीमा पर करिआम में नए बेरियर बनाए गए हैं। जिले की सीमा को सील किया गया है। बेरियर में लगे अधिकारी कर्मचारियों को ड्यूटी के दौरान स्वयं की सुरक्षा संबंधी दिशा निर्देश दिए गए हैं और सेनेटाइजर भी उपलब्ध कराए गए है साथ ही उनकी कार्रवाई का एसपी निरीक्षण कर जानकारी ले रहे हैं। जिले के थाना क्षेत्रों की पेट्रोलिंग,चेकिंग की कमान एसपी सूरजसिंह सम्हाले हुए हैं, जो स्वयं और एडिशनल एसपी गौरेला, एसडीओपी गौरेला, थाना प्रभारी गौरेला पेंड्रा एवं पुलिस स्टाफ के साथ जिले के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र के गांव में पहुंचकर फ्लैग मार्च किए। जगह-जगह एसपी द्वारा लोगों को लॉक डाउन का पालन करने के लिए हिदायत भी दी गई साथ ही साथ निर्देशित किया गया कि वे अपने परिवार से सही मायने में प्यार करते होंगे तो खुद भी बाहर निकलने से बचें। एसपी ने धारा 144 के तहत कर्फ्यू का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी साथ ही साथ नियमों का उल्लंघन करने पर वाहनों को जब्त करने की भी चेतावनी दी है। गुरुवार को एसपी सूरज सिंह परिहार के नेतृत्व में दुबटिया, कुदरी, कोटमी, दानीकुंडी, मरवाही, चंगेरी, परासी, सिवनी और लरकेनी में फ्लैग मार्च किया गया। लॉक डाउन का पालन नहीं करने वालों की खबर ली। बाहर घुुमने वाले लोगों को तख्ती के साथ फोटो सोशल मीडिया में वायरल किया। इस दौरान जिले में वाहन चालकों से 25 वाहनों को जब्त किया गया। अभी तक धारा 188 से संबंधित जिले में एक परकार्रवाई की गई है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket