लोरमी (नईदुनिया न्यूज)। मुंगेली जिला प्रशासन की उदासीनता के कारण धान संग्रहण केंद्रों में मनमाने तरीके से हमाली दर वसूली की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है । उल्लेखनीय है कि जो हमाली ठेकेदार बिलासपुर जिले में साढ़े तीन रुपए की दर पर लिखित सहमति दे रहे हैं । वही लोरमी में चार रुपए की दर पर अडिग हैं । जिससे काम प्रभावित हो रहा है । शुक्रवार को नवाडीह संग्रहण केंद्र में इसे लेकर स्थिति बिगड़ गई और पूरे दिन काम नहीं हो सका । उल्लेखनीय है कि ़धान संग्रहण केंद्रों में हमाली का कार्य ठेके पर दिया जाता है । राइस मिलर धान उठाव के लिए निविदा के आधार पर निर्धारित हमाली दर का भुगतान करते हैं । लेकिन बिचौलियों की मनमानी की वजह से उन्हें निर्धारित से अधिक दर पर भुगतान करना पड़ रहा है । इसका लाभ भी बिचौलिए उठा रहे हैं। मजदूरों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। पिछले 4 वर्षों से चल रही मनमानी के विरोध में राइस मिलर ने प्रशासन से गुहार लगाई । तब बिलासपुर कलेक्टर की पहल पर धान संग्रहण केंद्रों में साढे तीन रुपए की दर पर भुगतान करने पर सहमति बनी है । लेकिन जिस ठेकेदार ने बिलासपुर जिले के भरनी धान संग्रहण केन्द्र में साढ़े तीन रुपए की दर पर लिखित सहमति दी है । वहीं ठेकेदार मुंगेली जिले के लोरमी में चार रुपए की दर के लिए अडिग है । जिससे अप्रिय स्थिति बनती जा रही है। शुक्रवार को लोरमी के नावाडीह धान संग्रहण केंद्र में ठेकेदार ने मजदूरों को आगे कर अपनी मनमानी शुरू की । इस दौरान चार रुपए की दर से भुगतान का दबाव राइस मिलर्स पर डाला गया । इतना ही नहीं अपनी मर्जी से धान की लोडिंग करने पर अड़े रहे। 24 टन क्षमता वाले ट्रक में अपनी मर्जी से धान की लोडिंग करने की बात कहकर काम बंद कर दिया ।

इसे लेकर राइस मिलर्स में असंतोष है । उन्होंने लोरमी एसडीएम से गुहार लगाई है कि निर्धारित दर पर ही हमाली वसूल की जाए और मामले का शीघ्र निराकरण किया जाए । राइस मिलर की ओर से यह समस्या उठाए जाने के बाद बिलासपुर कलेक्टर ने जिस तरह से पहल की उस तरह की पहल मुंगेली कलेक्टर की ओर से अब तक नहीं हुई है । उक्त समस्या कलेक्टर की उदासीनता के कारण बनी हुई है और शीघ्र निराकरण नहीं होने पर आने वाले दिनों में धान का उठाव रुक सकता है। ऐसे में प्रशासन को हस्तक्षेप कर मामले का निराकरण करना चाहिए । जिससे धान का उठाव और मिलिंग कार्य प्रभावित न हो।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना