पेंड्रा । पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्व. राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर छत्तीसगढ़ राज्य के किसानों, भूमिहीन कृषि मजदूरों, पशुपालकों एवं समूह से जुड़ी महिलाओं को बड़ी सौगात मिली।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में शासकीय मल्टीपरपस स्कूल पेंड्रा के सभा कक्ष में वर्चअल रूप से जिले के 13 हजार 976 किसानों के खाते में पहली किस्त 9 करोड़ 68 लाख अंतरित किया। कार्यक्रम स्थल पर राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत किसान ओमवती पेंद्रों को 34 हजार 720, मुद्रिका सर्राटी को 34 हजार 440, ज्ञानेंद्र उपाध्याय को 31 हजार 528 , मदन मोहन राय को 23 हजार 856 रूपए, चैतमन कैवर्त को 14 हजार 616 रूपए, सीता बाई को 14 हजार 392 रूपए, जैलेश मिश्रा को 10 हजार 80 रुपए, सुरेंद्र पटेल को 9 हजार 16 रुपए और ममता पैकरा को 7 हजार रुपए का डेमो चेक दिया गया। मुख्य अतिथि विधायक डा. केके ध्रुव ने कहा कोरोना के समय जहां देश में आर्थिक तंगी थी, वहीं छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तीनों योजनाओं के तहत आर्थिक लाभ पहुंचाया। मुख्यमंत्री किसानों, ग्रमीणों, युवाओं और महिलाओं की बेतहरी के लिए कार्य कर रहे हैं । इस अवसर पर प्रताप सिंह मरावी, ममता पैकरा ने किसानों के लिए बेहतर कदम बताया। कलेक्टर ऋचा प्रकाश चौधरी ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना और गोधन न्याय योजना के अंतर्गत राशि अंतरण कार्यक्रम की जानकारी द

उन्होंने बताया कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत जिले में वर्ष 2019-20 में 10 हजार 808 किसानों से पांच लाख 86 हजार 115 क्विंटल धान खरीदी की गई और उन्हें 39 करोड 12 लाख रुपये का भुगतान किया गया। वर्ष 2020-21 में 13 हजार 423 किसानों से 7 लाख 49 हजार 72 क्विंटल धान की खरीदी की गई और उन्हे 48 करोड़ 8 लाख रुपये का भुगतान किया गया। वर्ष 2021-22 में 14 हजार 3 किसानों का पंजीकरण किया गया है। इसमें धान विक्रय करने वाले लाभान्वित किसानों की संख्या 13 हजार 976 है जिन्हें 4 किस्तों में 38 करोड़ 73 लाख रुपये की राशि का भुगतान किया जाना है। कार्यक्रम में कांग्रेस के जिला अध्यक्ष मनोज गुप्ता , राकेश जालान, गंगोत्री राठौर, आशा मरावी, एसपी त्रिलोक बंसल, एसडीएम पुष्पेंद्र शर्मा एवं देवसिंह उइके, अनमोल पाठक अन्य उपस्थित रहे।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close