गौरेला। नईदुनिया न्यूज

मोहर्रम महीने की दसवीं तारीख को गौरेला में मुस्लिम समाज के लोगों ने ताजिया निकाला। गश्त के बाद ताजिये को करबला में ठंडा किया गया। मदीना मस्जिद से शाम में मुकाम उठा। यहां से गुरुद्वारा , अमरकंटक रोड , मंगली बाजार , रेस्ट हाउस रोड, स्टेशन रोड होता जूलूस मेनरोड पर पहुंचा। यहां पर कुछ देर ठहराव के दौरान अखाड़ा खेला गया।

इससे पहले सोमवार की रात को कत्ल की रात के रूप में मनाया गया। इसमें इमामबाड़े से ताजिया उठा और शहर के विभिन्न मार्गों से होता हुआ मदीना मस्जिद चौक में पहुंचा। इस दौरान मस्जिद के साथ-साथ घरों में भी इबादतों का दौर चालू रहा। मुस्लिम समाज के लोगों ने रोजे भी रखे। विशेष असुरा की नामज पढ़ी गई। कौम के साथ मुल्क में अमन शांति की दुआ मांगी गई । ताजिया कमेटी के जफर निजामी ने पुराना गौरेला , टिकर कला में सूफी मोहम्मद हबीब जहांगीरी के साथ जगह ताजिया बनाई गई। जुलूस के आखिरी में लंगर कमेटी द्वारा मदीना मजीद चौक में लंगर का इंतजाम किया गया , जुलूस में टिकर, पेंड्रा, खोडरी , गोरखपुर , बेलगहना सहित कई जगह से आए मुस्लिम समुदाय के साथ साथ हिन्दू धर्म के लोग भी शामिल हुए ।