मुंगेली। नईदुनिया न्यूज

पंचायत एवं ग्रामीण विकास, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा एवं जिले के प्रभारी मंत्री टीएस सिंहदेव की अध्यक्षता में कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में जिला खनिज संस्थान न्यास एवं जीवनदीप समिति की साधारण सभा की बैठक हुई। उन्होंने सिविल सर्जन एवं चिकित्सा अधिकारियों को कहा कि स्मार्ट कार्ड का अधिक से अधिक उपयोग हो, ताकि आयुष्मान भारत योजना से जिले को ज्यादा राशि प्राप्त हो सके। प्राप्त राशि से जिला अस्पताल के विकास कार्य कराये जा सकेंगे।

बैठक में खनिज संस्थान न्यास निधि के अंतर्गत प्रत्यक्ष रूप से प्रभावित 20 गांवों एवं अप्रत्यक्ष रूप से संपूर्ण जिले के ग्राम पंचायतों के लिए तीन करोड़ चार लाख का प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया। खनिज संस्थान न्यास की राशि से पेयजल, स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि एवं महिला बाल विकास विभाग में संचालित सुपोषण के लिए प्राथमिकता से व्यय किए जाएंगे। प्रभारी मंत्री सिंहदेव ने उपसंचालक कृषि से कहा कि खनिज न्यास से मार्केट दर पर स्प्रेयर एवं अन्य उपकरण खरीदी किया जाना चाहिए। उन्होंने चिकित्सा अधिकारियों से कहा कि संस्थागत प्रसव को बढ़ाएं। डीएमएफ मद से जिला चिकित्सालय में सोनोलाजिस्ट रखे जाने, स्टाफ नर्स की भर्ती, सीआरएम मशीन एवं डिजिटल एक्स-रे के संबंध में चर्चा की गई। पुराना अस्पताल को संचालित किए जाने की मांग पर प्रभारी मंत्री ने कहा कि बैठक कर अस्पताल संचालन के संबंध में निर्णय लें। सिंहदेव ने कहा कि सांसद एवं विधायक मद से राशि प्राप्त कर जिला चिकित्सालय में धर्मशाला बना सकते हैं। बैठक में बताया गया कि आयुष्मान भारत योजना से प्राप्त राशि से जिला अस्पताल में पेयजल व्यवस्था किया गया है साथ ही शेड निर्माण, सड़क एवं पौधा रोपण कार्य भी कराया जा रहा है।

कलेक्टर डॉ. एसएन भुरे ने बताया कि जिला खनिज संस्थान न्यास निधि के व्यय के लिए प्रत्यक्ष रूप से प्रभावित 20 ग्राम पथरिया विकासखंड के मोहभट्ठा, भखुरीडीह, लमती, किरना, सरगांव, धमनी, पेंड्री, खम्हारडीह, बड़ियाडीह, खजरी, बगबुड़वा, मुंगेली के रामगढ़, सुरदा, चिचेसरा, सुरेठा एवं लोरमी विकासखंड के लोरमी, जमुनाही, कोसमतरा एवं तुलसाघाट शामिल है। उन्होंने बताया कि विभिन्न विभागों एवं जनप्रतिनिधियों से कार्य योजना प्राप्त हुई है ग्राम पंचायत किरना और मोहभट्ठा में पाइप लाइन विस्तार के लिए प्रस्तावित है। शिक्षा विभाग अंतर्गत सौ बधाों को लोक सेवा आयोग प्रशिक्षण देने के लिए 15 लाख और पीएमटी, पीएटी के विद्यार्थियों को कोचिंग देने के लिए दस लाख रुपए का कार्य योजना बनाई गई है। दसवीं और बारहवीं के विद्यार्थियों के अध्यापन कार्य के लिए जिले में 113 अतिथि शिक्षक रखे गए हैं। कलेक्टर डॉ. भुरे ने बताया कि जिला चिकित्सालय में 12 प्रकार बीमारी की इलाज के लिए सुविधाओं में विस्तार किया गया है। जिला अस्पताल में अब सिजेरियन ऑपरेशन भी किए जा रहे हैं। आइसीयू कक्ष एक माह के भीतर बनकर तैयार हो जाएगा। बेजा कब्जा हटाकर अस्पताल परिसर में पौधा रोपण भी कराया गया है। पीओ ने बताया कि 150 आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए गैस कनेक्शन देने के लिए प्रस्ताव तैयार किया गया है। जिले के प्रभावित गांवों के 3010 बधाों के सुपोषण के लिए 21 लाख 67 हजार का कार्य योजना बनाया गया है। प्रति बधो के लिए पांच रुपए खर्च किए जाएंगे। माह में एक लाख 80 हजार रुपए खर्च किया जाना प्रस्तावित है। इसी तरह प्रत्यक्ष रूप से प्रभावित गांवों के दिव्यांग बधाों के लिए प्राथमिकता से कार्य योजना बनाई गई है। लाइवलीहुड कॉलेज के दिव्यांग बधाों को स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा। उद्यानिकी विभाग अंतर्गत 125 हितग्राहियों के लिए ड्रीप सिंचाई के लिए 25 लाख रूपए का प्रस्ताव बनाया गया है। बैठक में बताया गया कि अधोसंरचना मद से भी कार्य योजना बनाकर भेजा गया है। जनप्रतिनिधियों ने कुछ महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। बैठक में मुंगेली क्षेत्र के विधायक पुन्नूलाल मोहले, जिला पंचायत अध्यक्ष कृष्णा बघेल, नपा अध्यक्ष सावित्री सोनी, जिला पंचायत सदस्य जागेश्वरी वर्मा, सांसद प्रतिनिधि कन्हैया वैष्णव, लोरमी विधायक प्रतिनिधि श्याम सुंदर शांडिल्य, बिह्ला विधायक के प्रतिनिधि निश्चल गुप्ता, आत्मासिंह क्षत्रिय, एसपी सीडी टंडन, सीईओ एचके शर्मा, अपर कलेक्टर राजेश नशीने सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।