मुंगेली। दो दिन पूर्व लोरमी थाना के बुधवारा के पास अघरिया बांध में एक युवक की अधजली लाश मिली थी। लोरमी पुलिस 48 घंटे में युवक की पहचान के साथ दो आरोपितों को पकड़ने में कामयाब रही हत्या का मामला प्रेम प्रसंग बताया जा रहा है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार थाना लोरमी में अज्ञात मृतक का शव ग्राम बुधवारा के पास अघरिया बांध के बगल में बरगद पेड़ के पास मिलने पर पुलिस घटना स्थल में पहुंचकर मृतक युवक के मामले में धारा 302, 201 दर्ज कर अज्ञात आरोपित की तलाश शुरू कर दी। एसपी चंद्र मोहन सिंह के निर्देशन में अनुविभागीय अधिकारी पुलिस लोरमी माधुरी धीरही के साथ लोरमी पुलिस सायबर टीम मुंगेली के द्वारा अज्ञात मृतक की पहचान एवं अज्ञात आरोपित की तलाश शुरू की गई।

पुलिस 14 मई के घटना स्थल पर डाग स्क्वायड , फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट , एफसीएल टीम के साथ प्रारंभ कर लगातार इंटरनेट मीडिया के माध्यम का उपयोग कर आसपास के लोगों से संपर्क कर अज्ञात मृतक के दोस्त स्वजन के बारे में पता कर शिनाख्ती कराए जाने पर मृतक की पहचान दीपक चंद धुलिया पिता सुखीराम धुलिया (22) निवासी ग्राम करगीखुर्द थाना कोटा जिला बिलासपुर के रूप में मृतक के भाई आकाश चंद धुलिया , प्रकाशचंद धुलिया पिता सुखीचंद धुलिया निवासी करगीखुर्द कोटा बिलासपुर द्वारा 15 मई को कार्रवाई कर अज्ञात आरोपित की पता तलाश तत्काल की गई।

इस तरह घटना को दिया अंजाम : प्रकरण के आरोपित भानुप्रताप कुलमित्र पिता हरेंद्र कुलमित्र (22) निवासी सिंघनपुरी पुलिस चौकी जूनापारा थाना तखतपुर जिला बिलासपुर अपने मौसेरे भाई आरोपितत, हीरालाल कश्यप पिता बलदाऊ कश्यप (27) निवासी बुधवारा के साथ मिलकर मृतक दीपकचंद धुलिया की हत्या करने की योजना बनाकर अपनी योजना के मुताबिक मृतक का विवाह आरोपित भानूप्रताप की प्रेमिका साथ तय होने की जानकारी होने से मृतक की हत्या करने की तैयारी शव की पहचान छिपाने के लिए जलाने के लिए दो लीटर पेट्रोल, माचिस, शराब खरीद कर अपने मोटरसाइकिल में बुधवारा से दोनों आरोपित मृतक दीपक को ग्राम चारभाठा से 13 मई को अपने साथ पैसा उधारी में देने के लिए पार्टी मनाने को बताकर रास्ते में शराब पिलाते हुये खाने का सामान ढाबा से खरीदते हुए तीनों घटनास्थल पहुंचे। दीपक को अत्यधिक शराब पिलाकर भानु के द्वारा वहीं पडे पत्थर से मारा गया ,सिर में चोट लगने से मौत हो गई । दोनों पत्थर से चेहरा कुचलने के साथ अपने पास रखे पेट्रोल को शरीर में डालकर शव को जला दिए। मोबाइल फोन से मैसेज कर स्टेटस डालकर मोबाइल फोन तोड़ कर फेंक दिए।पकड़े जाने पर अपराध स्वीकार कर लिए।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close