मुंगेली । नगर के पुलपारा में छोटे पुल के पास एक युवक पानी में बहे चप्पल निकालने के दौरान डूब गया। घटना की जानकारी मिलते ही घटनास्थल पर पहुंचे कलेक्टर राहुल देव और एसपीने तत्काल रेस्क्यू टीम को बुला रेस्क्यू की कार्रवाई शुरू की पर देर रात तक युवक का पता नहीं चल पाया है।

जानकारी के अनुसार पुलपारा का पुराना छोटा पुल हाल ही में हुए बारिश की वजह से डूबा हुआ है। उसके बगल में शिव मंदिर हैं, प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक शेषनारायण सोनी नामक युवक मंदिर के बाहर चप्पल उतार मंदिर में दर्शन करने गया। इस दौरान उसका एक चप्पल बाढ़ के पानी में बहने लगा, जिसे युवक ने पकड़ने की कोशिश की इस दौरान युवक नदी की तेज बहाव में नदी के अंदर गिर गया। युवक को नदी में गिरते देखकर वहां मौजूद लोग तत्काल नदी में कूदकर उसे खोजने का प्रयास किया पर युवक का पता नहीं चला। घटना की जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी व जनप्रतिनिधिमौके में पहुंच गए, तत्काल रेस्क्यू टीम को बुलाया गया। देर रात तक युवक के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई। वहीं मौके पर पहुंचे कलेक्टर राहुल देव और एसपी ने लोगों से अपील की है कि मुंगेली में लगातार बारिश होने की वजह से मनियारी और आगर नदी के साथ-साथ पुल, पुलिया में जलस्तर बढ़ा हैं, जिससे सभी सतर्क रहें और नदी व पानी में डूबे पुल को पार न करें। कलेक्टर ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ़ प्रभावितों के लिए कैंप की व्यवस्था की गई हैं जहां भोजन-पानी व आवश्यक सामग्री की व्यवस्था की गई हैं। बाढ़ विशेष गांवों में निगरानी रखी जा रही हैं। शुक्रवार को हुई आपातकालीन बैठक में बाढ़ से निपटने रणनीति बनाई गई हैं, जिला एवं पुलिस प्रशासन प्रभावित क्षेत्रों में मुस्तैद हैं। कलेक्टर ने बताया कि जिन क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति निर्मित हो रही है। वहां के लोगों अन्यत्र सुरक्षित स्थानों में रखने और उनके लिए भोजन, पेयजल, लकड़ी सहित तमाम व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। नदी नालों के पुल के ऊपर पानी बहने की स्थिति में तत्काल बैरिकेट लगाई जा रही है। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में कड़ी निगरानी रखने के लिए संबंधित अधिकारियों को 24 घंटे अलर्ट रहने के निर्देश भी दिए गए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close