नारायणपुर (नईदुनिया न्यूज)। पुलिस द्वारा चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान के तहत हार्डकोर नक्सली पंडरू पदामी को गिरफ्तार किया गया है। बीस वर्षीय पंडरू पदामी गुमटेर मुरियापारा का रहने वाला है। यह नक्सली वर्तमान में पल्ली-बारसूर निर्माणाधीन सड़क पर कड़ेनार से कडेमेटा के बीच बड़ी नक्सल घटना को अंजाम देने के लिए लगातार रेकी करने तथा छोटेड़ोंगर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम तोयामेटा में नक्सल गतिविधियों के विस्तार करने के लिए आया था। हत्या सहित कई घटनाओं में शामिल आरोपित नक्सली पंडरू को सीजेएम नारायणपुर के समक्ष प्रस्तुत किया गया, जहां से न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया।

मिली जानकारी के अनुसार 20 जनवरी को एसपी गिरिजा शंकर जायसवाल को सूचना मिली कि कई घटनाओं में सक्रिय रहने वाला हार्डकोर नक्सली पंडरू वर्तमान में नक्सल विस्तार के लिए थाना छोटेड़ोंगर क्षेत्र अंतर्गत ग्राम तोयामेटा आया है। इस सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए जायसवाल ने छोटेडोंगर एसडीओपी अभिषेक पैकरा को निर्देशित कर कड़ेनार कैंप से डीआरजी टीम रवाना की। उक्त टीम ने घेराबंदी कर पंडरू पदामी को गिरफ्तार कर लिया।

यह नक्सली आईटीबीपी के शहीद असिस्टेट कमांडेंट सुधाकर शिंदे और शहीद सहायक उपनिरीक्षक गुरमुख सिंह की हत्या और षड्यंत्र में शामिल था। इसके साथ ही बुकिनतोड़ बस ब्लास्ट में पांच जवानों की हत्या करते और 22 जवानों को गंभीर रूप से घायल करने की घटना को अंजाम देने देने में भी शामिल था। बता दें कि आरोपित नक्सली संगठन में आदेरबेड़ा क्षेत्र के नक्सली सदस्य के रूप में सक्रिय रूप से कार्य कर रहा था। पूछताछ के दौरान गिरफ्तार नक्सली ने दोनों मुख्य घटनाओं में अपनी सक्रियता सहित छोटी-बड़ी अनेकों नक्सल गतिविधियों में सक्रिय रहने की बात स्वीकार की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local