नारायणपुर। अबूझमाड़ के गुमरका में शनिवार की अलसुबह नक्सली मुठभेड़ में शहीद जवान को पुलिस लाइन में अंतिम सलामी दी गई। इस मौके पर बस्तर आईजी विवेकानंद सिन्हा,एसपी मोहित गर्ग समेत डीआरजी के जवानों ने शहीद जवान को कंधा देकर गृहग्राम रवाना किया ।

इस मौके पर नगर के गणमान्य नागरिक और शहीद जवान के परिजन मौजूद रहे । शहीद जवान राजू नेताम को गॉड ऑफ ऑनर देने के बाद पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धा सुमन किया गया । इस मौके पर शहीद जवान की पत्नी रोते बिलखते हुए अपने दिवंगत पति के पार्थिव शरीर पुष्प अर्पित करने पहुंची।

मालूम हो कि गोपनीय सैनिक राजू नक्सलियों से लोहा लेते हुए वीरगति को प्राप्त हुए है। उनके पेट और कमर के हिस्से में गोली लगने के बाद 18 घंटे तक जीवित रहे । वापसी के दौरान मुख्यालय पहुँचने और हेलीकॉप्टर के बारे में जानकारी अपने साथियों से लेते हुए रात करीब 10 बजे ओरछा थाना से 5 किमी दूर दुलूर पारा में राजू नेताम ने अंतिम सांसे लिया। जवान के पार्थिव शरीर को नेलसनार गृहग्राम रवाना किया गया है।

नक्सली चुनौतियों के बीच रविवार की सुबह जिला मुख्यालय लाया गया । राजू नेताम की दिलेरी के किस्से गार्ड आफ ऑनर के दौरान डीआरजी के जवानो के साथ एसटीएफ ,आइटीबीपी, जिला बल के जवान करते हैं। इस मुठभेड़ में घायल हुए दूसरे जवान सोमारू गोटा को बेहतर इलाज के लिए रामकृष्ण केयर अस्पताल रायपुर रेफर किया गया है।

सोमारू के दाहिने कंधे में गोली लगी है। नक्सली मुठभेड़ में गोली लगने के बाद सोमारू पैदल चलकर ओरछा थाना पहुंचे थे। इस मौके पर डीआईजी कांकेर रेंज टीआर पैकरा एसपी मोहित गर्ग, कोंडागांव एसपी सुजीत कुमार,16 वी वाहनी के उप कमांडेंट मिर्जा बेग ,आइटीबीपी ,बीएसएफ सीएएफ के कमांडेंट मौजूदा रहे। वहीं गणमान्य नागरिकों में बृजमोहन देवांगन ,कमलजीत आहूजा, पंकज जैन, प्रमोद नैलवाल, गजा पटेल,सुदीप झा समेत अन्य लोग मौजूद रहे ।