नारायणपुर। कलेक्टर ऋतुराज रघुवंशी के मार्गदर्शन में जिले में छठवां मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान प्रारंभ किया गया है। यह अभियान बीते 17 मई से प्रारंभ होकर 16 जून 2022 तक संचालित होगा। जिले में संचालित होने वाले छटवें मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के सफलतापूर्वक संचालन के संबंध मे सीएमएचओ डा बी.आर पुजारी ने जानकारी देते हुए बताया कि इसके लिए सर्वे दल का गठन किया गया है। इसमें प्रथम सदस्य के रूप में एक पुरुष कार्यकर्ता अथवा महिला स्वास्थ्यकर्ता वहीं दूसरी सदस्य के रूप में गांव अथवा पारा की मितानीन होगी। सर्वे के दौरान रक्त जांच के साथ-साथ रजिस्टर में जानकारी का संधारण, आरडी टेस्ट में कोड नंबर अंकित करना, मलेरिया धनात्मक पाये गए रोगी को दवा की प्रथम खुराक का सेवन कराना, नेल मार्किंग आदि किया जाएगा। उन्होंने संबंधित विभागों के मैदान अमलों से समन्वय और सहयोग का आग्रह किया है।

मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी डा बीआर पुजारी ने जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम अंतर्गत जिला रायपुर में छत्तीसगढ़ शासन के निर्देशानुसार मलेरिया मुक्त करने के लिए जिले में कार्यक्रम प्रथम चरण का आयोजन 15 जनवरी से 14 फरवरी 2020 तक किया गया था। उक्त अभियान की सफलता को ध्यान में रखते हुए अब तक कुल 5 चरणों का संचालन किया जा चुका है।

स्वास्थ्य विभाग और अमला पूरी तैयार

जिले को मलेरिया मुक्त करने हेतु स्वास्थ्य विभाग और अमला पूरी तैयारी के साथ काम कर रहा है। मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के छठवें चरण में नारायणपुर जिले के कुल लक्षित जनसंख्या एक लाख 41 हजार 712 है। इसके लिए नारायणपुर जिले के 8 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 62 उप स्वास्थ्य केंद्र, अभियान के लिए चयनित 395 ग्राम, क्षेत्र में तैनात अर्द्धसैनिक बल की संख्या 13, जिनमें कार्यरत अधिकारी-कर्मचारी 1300, जिले में संचालित स्कूल, आश्रम, छात्रावास और पोटाकेबिन की संख्या 35 और इनमें रहने वाले विद्यार्थियों की संख्या 30 हजार 734 है। इसी प्रकार अभियान के सुचारू संचालन के लिए 623 दलों का गठन किया गया है। वहीं इन दलो में 158 सदस्यों और 27 सुपर वाईजरों की नियुक्ति की गयी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close