नारायणपुर । कोरोना वायरस के महामारी के दौरान लोगों को खाद्य सामग्रियों की पूर्ति करने का सरकारी दावा अबूझमाड़ पहुंचकर फेल हो गया है। ओरछा के अधिकांश दुकानों में आलू और प्याज का स्टाक खत्म हो चुका है। जिसके चलते लोगों की परेशानियां बढ़ गई है। कोरोना वायरस के संकट से अबूझमाड़ के गांव डूबने की खबर आने लगी है। जिला मुख्यालय से 65 किमी दूर बसे ओरछा ब्लॉक मुख्यालय में छोटे- बड़े 8 से 10 दुकाने संचालित हो रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा पूरे देश में लॉक डाउन करने की घोषणा के बाद ओरछा में आवाजाही बंद होने से किराना दुकानों में सामानों की आपूर्ति नहीं की जा रही है। जिसकी वजह से दुकानों का स्टाक धीरे-धीरे खत्म हो रहा है। पिछले दो दिनों से ओरछा में आलू और प्याज लोगों को देखने के लिए नहीं मिल रहे हैं।

आलू 20 से 30 रुपये प्रति किलो और प्याज 40 से 50 रुपये में मिलने के बाद अब लोगों को नहीं मिल रहा है। सूत्र बता रहे हैं कि कुछ दुकानों में स्टाफ कम होने का हवाला देकर ग्राहकों से ऊंची कीमत पर खाद्य सामग्रियों की आपूर्ति की जा रही है। खाने के तेलों की स्थिति भी कुछ इस प्रकार की हो गई है।

बाजार में मिलने वाला सामान्य तेल 90 से 130 रुपए तक पहुंच गया है। ओरछा में सब्जियों की स्थानीय आवक नहीं होने से अब सब्जियों के दाम में भी धीरे-धीरे वृद्धि हो रही है। नईदुनिया से चर्चा में ओरछा के पंचायत सचिव मनकुर पोडियम ने बताया कि लॉक डाउन की वजह से दुकानों में खाद्य सामानों की आपूर्ति नहीं हो रही है।

जिसकी वजह से आलू और प्याज लोगों को नहीं मिल पा रही है। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन के अधिकारियों को आलू और प्याज के साथ अन्य सामग्रियों के स्टाक खत्म होने की सूचना दे दी गई है। ओरछा की आबादी करीब चार हजार तक पहुंच गई है। वही आश्रम शाला, पोर्टा केबिन और विभिन्न छात्रावासों को मिलाकर करीब दो हजार बच्चों के लिए रोजाना खाद्य सामग्रियों की आवश्यकता पड़ रही है।

इसके अलावा पुलिस कैंप में तैनात जवानों के रसद भी स्थानीय बाजार से उपलब्ध होता है ऐसी स्थिति में समय रहते खाद्य आपूर्ति ऊपर ध्यान नहीं दिया गया तो आने वाले दिनों में लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

खाद्य सामग्रियों को लेकर आ रही दिक्कतों के निराकरण के लिए जिला पंचायत सीईओ जिला पंचायत प्रेम कुमार पटेल के द्वारा जिला व्यापारी संघ के लोगों से चर्चा कर आवश्यक पहल करने को कहा गया है। वहीं जिला व्यापारी संघ के अध्यक्ष पंकज जैन ने बताया कि ओरछा की स्थिति कंट्रोल करने के लिए आलू और प्याज का स्टाक भानूप्रतापपुर से मंगाया गया है। जल्द ही लोगों को प्याज और आलू की आपूर्ति हो जाएगी।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना