नारायणपुर। Anti Naxalite Operation: नक्सल विरोधी अभियान के दौरान बुधवार को तीन अलग-अलग नक्सली घटना में डीआरजी और आईटीबीपी के दो जवान शहीद हो गए हैं। वहीं, सीएएफ का एक जवान घायल हुआ है। पहली घटना सुबह 10 बजे के करीब जिला मुख्यालय से 60 किमी दूर मोहन्दी पंचायत के महाराष्ट्र बॉर्डर पर हुई। यहां डीआरजी के जवान कनेर उसेंडी शहीद हुए हैं। दूसरी घटना दोपहर दो बजे के करीब आकाबेड़ा कैम्प से दो किमी दूर करेलघाटी में हुई।

यहां नक्सली विस्फोट में सीएएफ का जवान बनकेश्वर पैकरा घायल हुए हैं। वहीं, तीसरी घटना सोनपुर मार्ग पर जिला मुख्यालय से 25 किमी दूर बेचा के पास हुई। यहां आईटीबीपी के जवान एम बालास्वामी नक्सलियों के पाइप बम की चपेट में आने से वीर गति को प्राप्त हुए हैं।

पहली घटना की सूचना मिलते ही घायल जवान कनेर उसेंडी को घटना स्थल के लाने के लिए हेलिकॉप्टर रवाना किया गया था। मगर, घनघोर जंगल और पहाड़ियों की वजह से हेलिकॉप्टर नीचे नहीं उतर पाया। बस्तर आईजी पी सुंदर राज के द्वारा घायल जवान को निकालने के लिए फिर हेलिकॉप्टर भेजा गया, लेकिन स्थिति ठीक नहीं होने के हेलिकॉप्टर वापस लौट आया।

तीसरे प्रयास के बाद घटना स्थल से छह किमी दूर लाकर घायल जवान कनेर उसेंडी को हेलिकॉप्टर से जगदलपुर लाया जा रहा था, जहां रास्ते में वह वीरगति को प्राप्त हो गए। देर शाम बेचा के पास हुई नक्सली घटना में नक्सलियों के द्वारा तालाब के मेड में पाइप बम छिपाकर लगाया गया था, जिसे वापसी के दौरान जवान समझ नहीं पाए और बम की चपेट में आ गए। इस घटना में जवान के कमर के निचले हिस्से में गहरे जख्म हुए हैं।

जिला अस्पताल में जवान के पार्थिव शरीर को रखा गया है। गुरुवार की सुबह पीएम करने के बाद पार्थिव शरीर को गृह ग्राम मदुरई तमिलनाडु रवाना किया जाएगा। वहीं, डीआरजी के पार्थिव शरीर को सड़क मार्ग से नारायणपुर लाया जा रहा है। कनेर उसेंडी धौड़ाई के रहने वाले है। दूसरी घटना में घायल हुए सीएएफ के जवान को सड़क मार्ग से जिला अस्पताल लाने के बाद प्राथमिक उपचार करने के बाद हेलिकॉप्टर से रायपुर रिफर कर दिया गया है, जहां उनकी स्थिति ठीक बताई जा रही है।

सीएएफ के जवान बनकेश्वर पैकरा डी कंपनी के पांचवी बटालियन में तैनात हैं। जशपुर के जुरगुम पोस्ट के रहने वाले है। घटना की पुष्टि करते एसपी मोहित गर्ग ने बताया कि अबूझमाड़ के मोहंदी पंचायत के जंगल और पहाड़ियों के बीच सुबह पुलिस और नक्सलियों के बीच आधे घंटे तक भीषण गोलीबारी हुई। इमसें डीआरजी के जवान कनेर उसेंडी के पेट मे गोली थी और वह शहीद हो गए है। करेलघाटी में नक्सली विस्फोट में घायल हुए जवान को बेहतर इलाज के लिए हेलिकॉप्टर से रायपुर भेज दिया गया है। तीसरी, घटना में आईटीबीपी के जवान पाईप बम विस्फोट से शहीद हो गए है।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags